लाइव टीवी

प्रियंका गांधी को गन्ना मंत्री सुरेश राणा का जवाब- जाइए MP, छत्तीसगढ़ और राजस्थान सरकारों को पत्र लिखिए

Ajayendra Rajan | News18 Uttar Pradesh
Updated: December 11, 2019, 6:39 PM IST
प्रियंका गांधी को गन्ना मंत्री सुरेश राणा का जवाब- जाइए MP, छत्तीसगढ़ और राजस्थान सरकारों को पत्र लिखिए
उत्तर प्रदेश के गन्ना मंत्री सुरेश राणा ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी द्वारा सीएम योगी को लिखे गए पत्र का जवाब दिया है.

उत्तर प्रदेश के गन्ना मंत्री सुरेश राणा (Suresh Rana) ने कहा कि मैं समझता हूं कि प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) को पत्र की बजाए जमीनी हकीकत समझनी चाहिए. उन्हें किसानों की चिंता है तो मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान की सरकारों को पत्र लिखें. जहां किसानों की कर्ज माफी के नाम पर कांग्रेस सरकार में आई थी. आज वहां का किसान परेशान है.

  • Share this:
लखनऊ. कांग्रेस (Congress) की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Ganghi Vadra) ने बुधवार को उत्तर प्रदेश के गन्ना किसानों (Sugarcane Farmers) की समस्या को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) को पत्र (Letter) लिखा है. इसमें उन्होंने गन्ना खरीद मूल्य में एक रुपये की भी बढ़ोत्तरी नहीं किए जाने के कदम पर सवाल उठाया है. उन्होंने मांग की है कि किसानों के दर्द और उनके संघर्ष को समझते हुए आपकी सरकार का कर्तव्य बनता है कि उन्हें उनकी फसलों के सही दाम दिए जाएं. उधर प्रियंका गांधी के पत्र के जवाब में उत्तर प्रदेश के गन्ना मंत्री सुरेश राणा (Suresh Rana) ने कहा है कि प्रियंका गांधी वाड्रा को किसानों की चिंता है तो मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान की सरकारों को पत्र लिखें. जहां किसानों की कर्ज माफी के नाम पर कांग्रेस सरकार में आई थी. आज वहां का किसान परेशान है, उसकी समस्याओं को कोई सुन नहीं रहा है.

सुरेश राणा ने कहा कि देश में सर्वाधिक आत्महत्याएं अगर किसानों ने कभी की हैं तो वह यूपीए सरकार में की हैं. यूपीए सरकार द्वारा जिस तरह से चीनी का आयात किया गया. रॉ शुगर के नाम पर साढ़े 5 लाख टन चीनी देश में आई. देश के किसानों की चीनी 3000 रुपये कुंतल के आसपास थी और विदेश से आने वाली रॉ शुगर की कीमत 2300 से 2400 रुपये कुंतल थी. जाहिर है पूरे बाजार को ध्वस्त करने का काम यूपीए सरकार में आई चीनी ने किया. उन्होंने कहा कि मैं प्रधानमंत्री जी को बधाई देना चाहता हूं कि उन्होंने चीनी का आयात शुल्क 15 प्रतिशत से बढ़ाकर शत-प्रतिशत किया. उसी का परिणाम है कि बाहर से चीनी का आयात रुका. उलटा अब हमारे देश से चीनी निर्यात हो रही है. इसके कारण मार्केट में चीनी के दामों में स्थिरता आई है. आजादी के 70 साल में पहली बार देश के प्रधानमंत्री ने चीनी का बिक्री मूल्य तय किया है.

'योगी सरकार ने किया 77 हजार करोड़ रुपये का गन्ना भुगतान'

सुरेश राणा ने कहा कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 77 हजार करोड़ रुपये का गन्ना किसानों का भुगतान सुनिश्चित कराया है. जो आजाद भारत में किसी भी राज्य का किसी भी कालखंड में सबसे बड़ा भुगतान है. प्रियंका जी को इसका अध्ययन करना चाहिए. उनके साथियों और उनके द्वारा प्रदेश में जो चीनी मिलें बंद की गई थीं, उन तमाम चीनी मिलों को दोबारा चलाने का काम योगी सरकार ने किया है.



'महज ढाई साल में 18 चीनी मिलें यूपी को मिलीं'

सुरेश राणा ने कहा कि 2007 से 2017 तक कुल 29 चीनी मिलें उत्तर प्रदेश में बंद हो गईं. इसमें 2007 से 2012 तक 19 और 2012 से 2017 तक 10 चीनी मिलें बंद की गईं. डेढ़ दर्जन से ज्यादा चीनी मिलें चलाने का काम योगी सरकार ने महज 30 महीने में किया है. वहीं गन्ना मूल्य पर गन्ना मंत्री ने कहा कि हमने सरकार में आते ही 10 रुपये बढ़ाया, साथ ही हमने किसानों की ढुलाई का खर्च जो 8 रुपये 75 पैसे आता था, उसे हमने 42 पैसे प्रति किलोमीटर प्रति कुंतल किया है. जिससे किसानों को सीधे 1000 करोड़ रुपये से ज्यादा का फायदा हुआ है. सुरेश राणा ने कहा कि मैं समझता हूं कि प्रियंका गांधी को पत्र की बजाए जमीनी हकीकत समझनी चाहिए.ये भी पढ़ें:

गन्ना खरीद मूल्य को लेकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका ने सीएम योगी को लिखा पत्र

UP: कचहरी सीरियल ब्लास्ट केस की सुनवाई पूरी, 20 दिसंबर को आएगा फैसला

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 11, 2019, 6:08 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर