शिवपाल यादव की सदस्यता रद्द करने की याचिका अखिलेश ने ली वापस, बने रहेंगे MLA

भतीजे अखिलेश यादव के साथ शिवपाल यादव (PTI)
भतीजे अखिलेश यादव के साथ शिवपाल यादव (PTI)

समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) ने शिवपाल यादव (Shivpal Yadav) की विधायकी रद्द करने वाली विधानसभा में दायर याचिका वापस ले ली है.

  • Share this:
लखनऊ. समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) ने शिवपाल यादव (Shivpal Yadav) की विधायकी रद्द करने वाली विधानसभा में दायर याचिका वापस ले ली है. उत्तर प्रदेश विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित (Hriday Narayan Dikshit) ने गुरुवार को समाजवादी पार्टी को इसके लिए मंजूरी दे दी.

दरअसल, समाजवादी पार्टी की तरफ से रामगोविंद चौधरी ने पहले जसवंतनगर से विधायक शिवपाल यादव ) की शिवपाल यादव की सदस्यता रद्द करने के लिए याचिका लगाई थी लेकिन चौधरी ने याचिका वापस लेने की दरखास्त दी थी.

शिवपाल ने बनाई थी प्रगतिशील समाजवादी पार्टी
बता दें कि समाजवादी पार्टी से बगावत कर पूर्व मंत्री शिवपाल यादव ने प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) बनाई थी.
2016 में शुरू हुई थी तनातनी


बता दें यूपी विधानसभा चुनाव से पहले 2016 में यादव परिवार में महाभारत की शुरुआत हुई थी. बात इतनी बढ़ गई थी की अखिलेश ने समाजवादी पार्टी पर एकाधिकार कर लिया है. उसके बाद चुनाव में समाजवादी पार्टी की हार के बाद शिवपाल ने बयानबाजी शुरू कर दी थी, जिसके बाद उन्होंने समाजवादी मोर्चे का गठन किया और फिर प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) का गठन कर लिया. इस बीच अखिलेश और शिवपाल के बीच सुलह की कई कोशिशें हुईं, लेकिन सभी नाकाम साबित हुईं थी.

ये भी पढ़ें- पाइप से उतरकर अस्पताल से भागने वाले Corona मरीज की मौत

अब विदेशों में भी धूम मचाएगा बनारसी लंगड़ा और दशहरी आम, पहली खेप दुबई रवाना
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज