UP Weather: बिहार से सटे जिलों में हल्की बारिश की संभावना, बाकी जगह खिली रहेगी धूप
Lucknow News in Hindi

UP Weather: बिहार से सटे जिलों में हल्की बारिश की संभावना, बाकी जगह खिली रहेगी धूप
आज प्रदेश में बारिश की संभावना बहुत कम है

UP Weather Alert: मौसम में बदलाव की वजह से अगले कुछ दिनों तक कोई भी मानसूनी सिस्टम सक्रिय नहीं दिखाई दे रहा है. अभी तक के अनुमान के मुताबिक उत्तर प्रदेश के आसपास कोई भी सक्रिय मानसूनी सिस्टम नहीं है.

  • Share this:
लखनऊ. मौसम विभाग (Met Department) का ताजा अनुमान यह बताता है कि बिहार से सटे जिलों में मंगलवार को बारिश (Rain) हो सकती है. सोनभद्र, चंदौली, गाजीपुर और बलिया में हल्की बारिश की संभावना है. इसके अलावा तराई के कुछ जिलों में भी हल्की बारिश की संभावना है. लखनऊ (Lucknow) में भी मौसम में थोड़ी बहुत बदलाव की गुंजाइश है. प्रदेश के बाकी सभी जिलों में लोगों को तीखी धूप का सामना करना पड़ेगा. मौसम साफ रहेगा और बारिश की कोई गुंजाइश दिखाई नहीं दे रही है. अभी तक के अनुमान के मुताबिक यह सिलसिला अगले तीन-चार दिनों तक जारी रहेगा. उसके बाद का अनुमान बाद में जारी किया जाएगा. बता दें कि इस दौरान हवाओं के रूप में भी हल्का बदलाव आया है. ये जरूर है कि 2 सितंबर से लेकर 4 सितंबर तक प्रदेश के छिटपुट इलाकों में बारिश की संभावना है.

सोमवार को प्रदेश में कहीं नहीं हुई बारिश

बारिश में आई कमी का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि सोमवार को प्रदेश के किसी भी जिले में बारिश दर्ज नहीं की गई. पश्चिमी यूपी से लेकर रुहेलखंड, बुंदेलखंड, ब्रज क्षेत्र, मध्य क्षेत्र और पूर्वांचल तक के जिलों में कहीं भी बारिश नहीं दर्ज की गई. हालांकि गनीमत यह है कि बारिश न होने की सूरत में भी गर्मी और उमस से अभी तक लोगों को राहत मिली है. यह जरूर है कि तीखी धूप के निकलने का सिलसिला यूं ही जारी रहता है तो तापमान में थोड़ी बढ़ोतरी दर्ज की जाएगी. हवाओं के बदले रुख से थोड़ी उमस की भी संभावना बढ़ेगी.



मानसूनी सिस्टम सक्रिय नहीं
मौसम में आए इस बदलाव की से अगले कुछ दिनों तक कोई भी मानसूनी सिस्टम सक्रिय नहीं दिखाई दे रहा है. अभी तक के अनुमान के मुताबिक उत्तर प्रदेश के आसपास कोई भी सक्रिय मानसूनी सिस्टम मौजूद नहीं है. यही वजह है कि बारिश में गिरावट दर्ज की गई है. बारिश के बाद वायु मंडल में धूल कणों के काफी कम हो जाने के कारण धूप की तीव्रता भी काफी बड़ी हुई है. हालांकि बारिश में आई इस कमी से प्रदेश के 16 जिलों को बहुत बड़ी राहत मिलने की संभावना है. बता दें कि पूर्वांचल और तराई के 16 जिले इन दिनों बाढ़ से प्रभावित हैं. पिछले डेढ़ महीने से जलभराव और बाढ़ की मार लाखों लोग झेल रहे हैं. बारिश में कमी के कारण नदियों का जलस्तर घटेगा और रुका हुआ पानी इलाकों से निकल सकेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज