UP Weather Update: उत्तर प्रदेश के इन 31 जिलों में अगले कुछ घंटों में बारिश की संभावना
Azamgarh News in Hindi

UP Weather Update: उत्तर प्रदेश के इन 31 जिलों में अगले कुछ घंटों में बारिश की संभावना
(सांकेतिक तस्वीर)

Weather Update: मौसम विभाग के अनुसार पश्चिमी यूपी (Western UP) , पूर्वी यूपी और तराई के कुछ जिलों में अगले कुछ घंटों में बारिश हो सकती है. इसके अलावा रूहेलखंड के बरेली और शाहजहांपुर में भी बारिश की संभावना जताई गई है.

  • Share this:
लखनऊ. उत्तर देश में बारिश (Rainfall) की संभावनाओं को लेकर मौसम विभाग (Met Department) ने नया पूर्वानुमान जारी किया है. शुक्रवार के लिए जारी अनुमान के मुताबिक, पश्चिमी यूपी, पूर्वी यूपी और तराई के कुछ जिलों में अगले कुछ घंटों में बारिश की संभावना है. इसके अलावा रूहेलखंड के बरेली और शाहजहांपुर में भी बारिश होने का पूर्वानुमान जताया गया है.

जिन जिलों में दोपहर तक बारिश की उम्मीद है वे जिले हैं - बिजनौर, अमरोहा, मुरादाबाद, संभल, बदायूं, शाहजहांपुर, कासगंज, बरेली, सिद्धार्थ नगर, बस्ती, संतकबीरनगर, अंबेडकर नगर, गोरखपुर और महाराजगंज. इसके अलावा कुशीनगर, देवरिया, मऊ, आजमगढ़, प्रयागराज, प्रतापगढ़, सुल्तानपुर, जौनपुर, भदोही, वाराणसी, फर्रुखाबाद, हरदोई, रायबरेली, रामपुर, बुलंदशहर, हापुड़ और मैनपुरी में भी बारिश होने के आसार हैं.

3 अगस्त तक जारी रहेगा सिलसिला
अगले कुछ दिनों तक के लिए मौसम का जो अनुमान विभाग ने जारी किया है, उसके मुताबिक पूरे प्रदेश में मौसम मिला-जुला रहेगा. पश्चिमी यूपी से पूर्वी यूपी तक कुछ जगहों पर बारिश की संभावना है. यह सिलसिला 3 अगस्त तक जारी रहेगा. बहुत भारी बारिश की संभावना नहीं जताई गई है. छिटपुट बारिश प्रदेश के कुछ इलाकों में संभव है.
गुरुवार को मेरठ और बहराइच छोड़ कहीं ज्यादा बारिश नहीं


गुरुवार का दिन बारिश के लिहाज से बेहद सामान्य रहा. मेरठ और बहराइच को छोड़कर प्रदेश में कहीं भी ज्यादा बारिश दर्ज नहीं की गई. मेरठ में सबसे ज्यादा 29.4 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई, जबकि बहराइच में 16 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई. 6 मिलीमीटर बारिश रायबरेली और हरदोई में भी दर्ज की गई. इसके अलावा प्रदेश में कहीं भी बारिश नहीं दर्ज की गई.

जलभराव से जूझ रहे कई जिलों को मिल सकती है राहत
अगले कुछ दिनों बादलों का जमावड़ा यूं ही आसमान में लगा रहेगा. कहीं-कहीं बूंदा-बांदी भी हो सकती है. धूप और छांव का सिलसिला चलता रहेगा. बारिश में कमी आने से उन जिलों को बड़ी राहत मिलेगी जहां पहले से ही जलभराव की स्थिति बनी हुई है. नदियों का जलस्तर नीचे जाने से इलाकों में जमा पानी नालों के जरिए निकल सकेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading