लाइव टीवी

UP में नहीं होगी मास्क, सेनेटाइजर सहित आवश्यक वस्तुओं की कमी, ये है वजह
Lucknow News in Hindi

भाषा
Updated: March 25, 2020, 10:31 PM IST
UP में नहीं होगी मास्क, सेनेटाइजर सहित आवश्यक वस्तुओं की कमी, ये है वजह
प्रमुख सचिव ने बताया, ‘‘उद्यमियों की सुविधा के लिए मुख्यालय पर एक कन्ट्रोल रूम स्थापित कर हेल्पलाइन नं0 9415467934 जारी किया गया है. (प्रतीकात्मक फोटो)

सहगल ने बताया, ‘‘नोएडा, गाजियाबाद, कानपुर और लखनऊ में इकाइयों को हर सम्भव सहायता उपलब्ध करायी जा रही है. लगभग 33 नये लाइसेंस आबकारी विभाग (Excise Department) द्वारा जारी किये गये हैं.

  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) सरकार का कहना है कि आवश्यक वस्तुओं का निर्माण करने वाली औद्योगिक इकाइयों के निर्बाध संचालन के लिए विशेष प्रयास किया जा रहा है और इसके तहत पिछले तीन दिन से नोएडा तथा गाजियाबाद (Ghaziabad) में लॉकडाउन (Lockdown) के कारण बंद पड़े मास्क व सेनेटाइजर बनाने वाले कारखानों को चालू कराया जा रहा है. इसके अलावा लखनऊ एवं कानपुर में मास्क व सेनेटाइजर बनाने वाली इकाइयों को भी शुरू कराने के प्रयास किये जा रहे हैं.  साथ ही आवश्यक वस्तु निर्माण में जुटी इकाइयों की सुविधा के लिए एक हेल्पलाइन नम्बर भी जारी किया गया है.

यह जानकारी प्रमख सचिव, सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम तथा निर्यात प्रोत्साहन, नवनीत सहगल ने बुधवार को यहां दी. उन्होंने बताया, ‘‘कोरोना वायरस की वजह से पूरे प्रदेश में लॉकडाउन है. ऐसी परिस्थिति में लोगों को आवश्यक सामग्री उपलब्ध कराना बड़ी चुनौती है. आमजन को आसानी से मेडिकल एवं खाद्य सामग्री उपलब्ध हो, इसके लिए लघु इकाइयों के निर्बाध संचालन की व्यवस्था सुनिश्चित की जा रही है. इनमें दवायें, मास्क, सेनेटाइजर, खाने-पीने एवं आवश्यक वस्तुएं बनाने वाली इकाइयां प्रमुख रूप से शामिल हैं. इसके अलावा ब्रेड इत्यादि बनाने वाली इकाइयों को भी चालू रखने की कोशिश की जा रही है.’’

हर सम्भव सहायता उपलब्ध करायी जा रही है
सहगल ने बताया, ‘‘नोएडा, गाजियाबाद, कानपुर और लखनऊ में इकाइयों को हर सम्भव सहायता उपलब्ध करायी जा रही है. लगभग 33 नये लाइसेंस आबकारी विभाग द्वारा जारी किये गये हैं, जिससे हैण्ड सेनेटाइजर बनाने का कार्य आरम्भ हो गया है या इकाइयों ने अपनी क्षमता में वृद्धि कर ली है.’’



उन्होंने बताया कि सभी जिलों के उपायुक्त, जिला उद्योग केन्द्र को निर्देश दिए गये हैं कि वह अपने-अपने क्षेत्रों में संबंधित औद्योगिक इकाइयों से समन्वय करके जिलाधिकारी के माध्यम से उनके व उनके कर्मचारियों को समुचित पास इत्यादि जारी कराकर इन इकाइयों को चालू कराना सुनिश्चित करें, ताकि प्रदेश में दवाइयों की कमी न हो.

हेल्पलाइन नं0 9415467934 जारी किया गया है
प्रमुख सचिव ने बताया, ‘‘उद्यमियों की सुविधा के लिए मुख्यालय पर एक कन्ट्रोल रूम स्थापित कर हेल्पलाइन नं0 9415467934 जारी किया गया है. प्रदेश की किसी भी औद्योगिक इकाई को जिसके द्वारा आवश्यक वस्तुओं के उत्पादन का कार्य किया जा रहा है, वह इस नम्बर पर सम्पर्क स्थापित कर सकते हैं.  उन्हें यथा समय हर सम्भव मदद दी जायेगी. ’’

ये भी पढ़े- 

Coronavirus: लॉकडाउन में यह काम कर बुरे फंसे पप्पू यादव, दर्ज हुआ केस

कोरोना के मरीजों के इलाज के लिए रामविलास पासवान ने बिहार को दिए एक करोड़ रुपए

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 25, 2020, 10:31 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर