Home /News /uttar-pradesh /

up youth are creating employment for others says cm yogi adityanath

5 साल में कितनी नौकरियां और कितने रोजगार दिए; युवाओं की तारीफ कर CM योगी ने सब बताया

यूपी के युवा कर रहे हैं दूसरों के लिए रोजगार का सृजन : सीएम योगी आदित्यनाथ (फाइल फोटो)

यूपी के युवा कर रहे हैं दूसरों के लिए रोजगार का सृजन : सीएम योगी आदित्यनाथ (फाइल फोटो)

UP News: यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उनकी सरकार ने पिछले पांच वर्षों में पांच लाख युवाओं को सरकारी नौकरी, निजी क्षेत्र में 1.61 करोड़ को रोजगार और 60 लाख युवाओं को स्वरोजगार के अवसर प्रदान किए हैं. उन्होंने कहा कि सरकार ने अपने दूसरे कार्यकाल के पहले 100 दिनों में 10,000 सरकारी नौकरियां भी प्रदान कीं, जैसा कि वादा किया गया था.उन्होंने आगे कहा कि 2017 से पहले राज्य के युवा काम की तलाश में देश भर में इधर-उधर भटक रहे थे. इसके विपरीत उन्होंने कहा कि वही युवा अब दूसरों को रोजगार दे रहे हैं.

अधिक पढ़ें ...

लखनऊ: अधिक रोजगार के अवसरों और नौकरियों के सृजन के साथ युवाओं के कल्याण के महत्व पर जोर देते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को कहा कि उत्तर प्रदेश के युवा देश के विकास की रीढ़ हैं और वे पहले से ही दूसरों के लिए रोजगार पैदा कर रहे हैं. स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर बोलते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सरकार राज्य के हर घर के युवाओं को नौकरी और रोजगार के अवसर प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है. राज्य में बेरोजगारी दर, जो 2016 में 18 प्रतिशत थी, अप्रैल 2022 में घटकर 2.9 प्रतिशत हो गई है.

एक सरकारी बयान के मुताबिक, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सरकार युवाओं के उज्जवल भविष्य को लेकर आशावान है और उनकी सरकार उन्हें विभिन्न क्षेत्रों में रोजगार प्रदान कर रही है. साथ ही उन्हें स्वरोजगार के अवसर भी प्रदान किए जा रहे हैं. नतीजा यह है कि प्रदेश के युवा भी दूसरों के लिए रोजगार सृजित कर आत्मनिर्भर बन रहे हैं.

मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार ने पिछले पांच वर्षों में पांच लाख युवाओं को सरकारी नौकरी, निजी क्षेत्र में 1.61 करोड़ को रोजगार और 60 लाख युवाओं को स्वरोजगार के अवसर प्रदान किए हैं. उन्होंने कहा कि सरकार ने अपने दूसरे कार्यकाल के पहले 100 दिनों में 10,000 सरकारी नौकरियां भी प्रदान कीं, जैसा कि वादा किया गया था.उन्होंने आगे कहा कि 2017 से पहले राज्य के युवा काम की तलाश में देश भर में इधर-उधर भटक रहे थे. इसके विपरीत उन्होंने कहा कि वही युवा अब दूसरों को रोजगार दे रहे हैं.

इसके अलावा, सीएम योगी ने कहा कि सरकार प्रत्येक परिवार के कम से कम एक सदस्य को रोजगार के अवसर प्रदान करने के लिए एक पारिवारिक पहचान पत्र विकसित कर रही है, जो काम पाने में असमर्थ है. सीएम ने कहा कि राज्य निवेशकों के लिए ड्रीम डेस्टिनेशन के रूप में भी उभर रहा है और सरकार ने ‘यूपी ग्लोबल इन्वेस्टर समिट’ के माध्यम से 10 लाख करोड़ रुपये के निवेश को आकर्षित करने का लक्ष्य रखा है, जो जनवरी 2023 में होने वाला है. इससे न केवल राज्य के युवाओं को रोजगार मिलेगा बल्कि राज्य के आर्थिक विकास में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा.

Tags: Lucknow news, Uttar pradesh news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर