लाइव टीवी

UPPCL PF घोटाला: ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा और अखिलेश यादव के बीच छिड़ी ट्विटर जंग

News18 Uttar Pradesh
Updated: November 6, 2019, 8:18 AM IST
UPPCL PF घोटाला: ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा और अखिलेश यादव के बीच छिड़ी ट्विटर जंग
यूपीपीसीएल घोटाले को लेकर आमने सामने श्रीकांत शर्मा और अखिलेश यादव

ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा (Shrikant Sharma) ने अपने ट्वीट में लिखा, 'ऊर्जा विभाग के कार्मिक मेरे परिवार का हिस्सा हैं. उनका पैसा पूरी तरह से सुरक्षित है. दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई शुरू हो गई है.'

  • Share this:
लखनऊ. यूपी पॉवर कारपोरेशन (UP POwer Corporation) के भविष्य निधि (PF Scam) में हुए अरबों के घोटाले मामले में राज्य सरकार (State Government) और समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के बीच जुबानी जंग जारी है. मंगलवार को समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर जहां इस घोटाले के लिए बीजेपी सरकार (BJP Government) को जिम्मेदार ठहराते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) का इस्तीफा मांग लिया था. इस पर अब उर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा (Shrikant Sharma) ने पलटवार किया है. उन्होंने इस घोटाले की जड़ को समाजवादी पार्टी सरकार से जोड़ दिया. दोनों नेताओं के बीच इस मुद्दे पर आरोप-प्रत्यारोप का दौर ट्विटर तक जा पहुंचा है.

अखिलेश को बताया चार जिलों का सीएम

श्रीकांत शर्मा ने ट्वीट करते हुए लिखा, 'श्रीमान @yadavakhilesh आज आपको इस बात से भी तकलीफ है कि @BJP4UP सरकार में गरीब की झोपड़ी भी दूधिया रोशनी से रोशन है. अब 75 जिलों में लोगों को पर्याप्त बिजली मिल रही है. आप तो केवल चार जिलों के ही CM थे. सरकार ने एक करोड़ 12 लाख घरों और एक लाख 30 हजार मजरों में रोशनी पहुंचाई तो अमेठी, रायबरेली का अंधेरा तक दूर न कर पाने वाली कांग्रेस और सिर्फ चार जिलों को बिजली देने वाली सपा का सियासी सफर अंधेरे में डूब गया. मुद्दाविहीन दल सिर्फ आलोचना के लिए आलोचना कर रहे हैं. ऊर्जा विभाग के कार्मिक मेरे परिवार का हिस्सा हैं. उनका पैसा पूरी तरह से सुरक्षित है. दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई शुरू हो गई है. घोटालेबाजों की संपत्ति होगी कुर्क.'


Loading...

श्रीकांत शर्मा ने एक और ट्वीट कर घोटाले पर सफाई दी, उन्होंने लिखा, 'कर्मचारियों की भविष्य निधि का पैसा कहां जमा होगा यह ट्रस्ट तय करता है. ट्रस्ट से जुड़ा कोई भी दस्तावेज ऊर्जा मंत्री के पास नहीं आता. #DHFL मामले की शिकायत मिलते ही मैंने #UPCM श्री @myogiadityanath जी से CBI जांच का अनुरोध किया.'



अखिलेश ने भी कसा तंज

इसके बाद अखिलेश यादव ने पलटवार करते हुए लिखा, 'प्रदेश की नाकाम और भ्रष्ट बीजेपी सरकार बिजली कर्मचारियों के प्रोविडेंट फंड घोटाले में बिजली मंत्री को तुरंत बर्खास्त करके कर्मचारियों की भविष्य निधि तुरंत सुनिश्चित करे, नहीं तो ये कर्मचारी बीजेपी सरकार की बत्ती गुल कर देंगे... फिर मुखिया जी पूछते फिरेंगे, ‘इतना अंधेरा क्यों है भाई?’

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 6, 2019, 7:54 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...