यूपी सिविल कोर्ट स्टाफ भर्ती: एसटीएफ ने 1 सॉल्वर और पकड़ा, 2 दिन में अब तक 12 गिरफ्तार

गिरफ्तार सॉल्वर
गिरफ्तार सॉल्वर

गिरफ्तार सॉल्वर का नाम धर्मेंद्र कुमार यादव है और वह बिहार के पटना में शाहबगंज थाना क्षेत्र का रहने वाला है. वह इलाहाबाद निवासी संजय कुमार यादव के नाम से परीक्षा दे रहा था.

  • Share this:
उत्तर प्रदेश सिविल कोर्ट स्टाफ के केंद्रीकृत भर्ती 2018-19 की ड्राइवर ग्रेड 4 परीक्षा में फर्जीवाड़ा सामने आया है. उत्तर प्रदेश स्पेशल टास्क फोर्स ने लखनऊ से एक सॉल्वर को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार सॉल्वर का नाम धर्मेंद्र कुमार यादव है और वह बिहार के पटना में शाहबगंज थाना क्षेत्र का रहने वाला है.

सिविल कोर्ट स्टाफ ग्रुप D भर्ती: कानपुर और लखनऊ में सरगना सहित कुल 11 गिरफ्तार

पता चला कि वह इलाहाबाद निवासी संजय कुमार यादव के नाम से परीक्षा दे रहा था. एसटीएफ ने उसके पास से संजय कुमार यादव के नाम से एक फर्जी एडमिट कार्ड, वोटर आईडी कार्ड बरामद किया है. बता दें 20 जनवरी को एसटीएफ ने इसी भर्ती में ग्रुप डी की परीक्षा में 11 सॉल्वर, अभ्यर्थी और गैंग के सरगना को गिरफ्तार किया था.



मथुरा का जवाहरबाग कांड: 47 में से 45 आरोपी दोषी करार, थोड़ी देर में सजा का ऐलान
इसी क्रम में सोमवार को डीएसपी प्रदीप कुमार मिश्रा की अगुवाई में शारदा नगर के रजनी खंड 6 स्थित आवासीय पब्लिक इंटर कॉलेज में रेड की गई. इसमें धर्मेंद्र कुमार यादव को पकड़ा गया. गिरफ्तार अभियुक्त ने बताया कि उसे इलाहाबाद के कैड़िहार निवासी सोनू यादव का भाई शशांक यादव परीक्षा दिलाने लाया था. एडवांस के तौर पर उसे 15 हजार रुपए मिले थे, डील कुल 1 लाख रुपए तय हुई थी.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsAppअपडेट्स

ये भी पढ़ें:

2019 लोकसभा चुनाव की अधिसूचना जल्द! निर्वाचन आयोग की वीडियो कांफ्रेंसिंग

गठबंधन के पीएम चेहरे पर बोले अखिलेश यादव-हमारे पास कई च्वाइस, बीजेपी अपनी बताए

यूपी के साधु-संतों को भी पेंशन देगी योगी सरकार, लोकसभा चुनाव पर टिकी नजर
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज