• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • LUCKNOW UTTAR PRADESH BECOMES FIRST STATE CONDUCTING OVER FIVE CRORE CORONA TEST UPAT

5 करोड़ से ज्यादा कोरोना टेस्ट करने वाला पहला राज्य बना उत्तर प्रदेश, पिछले 24 घंटे में मिले 1500 नए केस

5 करोड़ से ज्यादा टेस्ट करने वाला पहला राज्य बना यूपी (फाइल फोटो)

UP On Top In Corona Testing: प्रदेश में पिछले 24 घंटे में 1500 नए केस सामने आए, जबकि कुल सक्रिय केसों की संख्या 28000 रह गई है. प्रदेश का रिकवरी रेट 97.1 फीसदी पहुंच गया है. यूपी में सीएम योगी का ‘ट्रिपल टी फार्मूला’ सफल रहा है.

  • Share this:
लखनऊ. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) के ट्रिप्पल टी फॉर्मूले से जहां उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में कोरोना की दूसरी लहर में काफी हद तक काबू पाया जा चुका है, वहीं मंगलवार को 3.32 लाख टेस्ट के साथ यूपी 5 करोड़ से ज्यादा टेस्ट करने वाला पहला राज्य बन गया. दूसरे नंबर का प्रदेश सिर्फ 3.5 करोड़ टेस्ट ही कर पाया है. प्रदेश में पिछले 24 घंटे में 1500 नए केस सामने आए, जबकि कुल सक्रिय केसों ( Active Cases) की संख्या 28, 000 रह गई है. प्रदेश का रिकवरी रेट 97.1 फीसदी पहुंच गया है. पहले कहा जा रहा था कि प्रदेश में 30 लाख सक्रिय केस होंगे, लेकिन 30,000 से भी कम एक्टिव केस बचे हैं.

यूपी के अपर मुख्य सचिव, स्वास्थ्य (Additional Chief Secretary Health) अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि 3 लाख 32 हजार टेस्ट किए गए हैं. जिससे केस को प्रथम चरण पर चिन्हित करके आइसोलेट किया जा सके. अब तक कुल 5 करोड़ 32 हजार टेस्ट हो चुके हैं. प्रसाद के मुताबिक पिछले 24 घंटे में सिर्फ 1500 पॉजिटिव केस मिले. अब रिकवरी रेट भी 97.1 प्रतिशत हो गया है. उन्होंने बताया कि सक्रिय मामलों की संख्या घटकर 28,000 रह गई है.



अब तक 1,86,66,323 को लगी वैक्सीन
अपर मुख्य सचिव, स्वास्थ्य बताते हैं कि कोरोना की तीसरी लहर से पहले बच्चों के लिए यूपी सरकार की ओर से विशेष कदम उठाए जा रहे हैं. मंगलवार से यूपी के वैक्सीनेशन सेंटर्स पर उन अभिभावकों के लिए अलग व्यवस्था होगी, जिनके बच्चे 12 साल से कम उम्र के हैं. उन्होंने बताया कि हर जनपद में कम से कम 2 ऐसे केंद्र बनाए गए हैं जहां ऐसे लोगों का वैक्सीनेशन किया जा रहा है. एसीएस हेल्थ ने जानकारी देते हुए बताया कि अब तक प्रदेश में 1,51,62,374 लोगों को वैक्सीन की पहली डोज और 35,03,949 लोगों को दूसरी डोज दी जा चुकी है. कुल मिलाकर 1,86,66,323 डोज दी जा चुकी है.