Home /News /uttar-pradesh /

UP Chunav 2022 : राजनीतिक दल पहले चरण के लिए कल से कर सकेंगे रैली, जानें कितने लोगों की है इजाजत

UP Chunav 2022 : राजनीतिक दल पहले चरण के लिए कल से कर सकेंगे रैली, जानें कितने लोगों की है इजाजत

चुनाव आयोग ने 28 फरवरी से 500 लोगों की रैली की इजाजत इसी महीने की 22 तारीख को दी थी.

चुनाव आयोग ने 28 फरवरी से 500 लोगों की रैली की इजाजत इसी महीने की 22 तारीख को दी थी.

Uttar Pradesh Elections 2022: यूपी विधानसभा चुनाव के पहले चरण के लिए इस वक्‍त राजनीति दल प्रचार प्रसार कर रहे हैं. वहीं, कल यानी शुक्रवार (28 जनवरी) से 8 फरवरी 2022 के बीच सभी दल अधिकतम 500 लोगों के साथ खुले स्थानों पर जनसभाएं कर सकते हैं. हालांकि इस दौरान कोरोना प्रोटोकॉल का ध्‍यान रखना होगा. पहले चरण में पश्चिमी यूपी के 11 जिलों की 58 सीटों पर मतदान होगा. चुनाव आयोग (Election Commission) ने रैली को लेकर फैसला 22 जनवरी को दिया था.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली/लखनऊ. उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव (UP Election 2022) के पहले चरण के लिए राजनीतिक दल और उम्मीदवार कल यानी शुक्रवार से अधिकतम 500 लोगों के साथ खुले स्थानों पर जनसभाएं कर सकते हैं. बता दें कि चुनाव आयोग (Election Commission) ने 22 जनवरी को भौतिक रैलियों और रोड शो पर प्रतिबंध को 31 जनवरी तक बढ़ा दिया था. हालांकि आयोग ने उन क्षेत्रों में 500 लोगों तक की सीमा के साथ भौतिक सभाएं करने की अनुमति दी थी, जहां पहले दो चरणों में मतदान होने हैं.

चुनाव आयोग ने कहा था कि 10 फरवरी को यूपी विधानसभा चुनाव के पहले चरण के मतदान वाले क्षेत्रों में राजनीतिक दल और उम्मीदवार 28 जनवरी से ‘भौतिक जनसभाएं’ कर सकते हैं. जबकि इससे पहले ही चुनाव आयोग ने राजनीतिक दलों को अधिकतम 300 लोगों या किसी हॉल की क्षमता का 50 प्रतिशत के साथ ‘इनडोर’ बैठकें करने की अनुमति दी थी. उत्तर प्रदेश विधानसभा के लिए पहले चरण में 58 सीटों पर मतदान होगा. इसके साथ चुनाव आयोग ने कहा था कि दूसरे चरण के मतदान के लिए 1 फरवरी से जनसभाएं की जा सकती हैं. दूसरे चरण का चुनाव 14 फरवरी को है. इसके साथ इसी दिन गोवा और उत्‍तराखंड में भी मतदान होगा.

चुनाव आयोग ने दी थी ये हिदायत
इसके अलावा चुनाव आयोग ने कहा था कि पहले दो चरणों के चुनाव को छोड़कर कहीं पर भी रैली, रोड शो, पद यात्रा, साइकिल यात्रा या जुलूस निकालने की इजाजत नहीं है. पहले दो चरणो में जिन सीटों पर चुनाव होना है, वहां रैलियां और जनसभाएं हो सकती हैं, जिसमें अधिकतम 500 लोग ही शामिल हो सकते हैं. वहीं, पहले चरण के लिए यह छूट 28 जनवरी से 8 फरवरी 2022 के बीच रहेगी. इसके अलावा मतदान के पहले जिन दो दिनों में चुनाव प्रचार पर रोक रहती है, वो नियम ज्‍यों का त्‍यों लागू रहेगा.इसके अलावा दूसरे चरण में यह ढील 1 फरवरी से 12 फरवरी के बीच मिलेगी.

जानें उत्तर प्रदेश में कब-कब है वोटिंग
बता दें कि उत्तर प्रदेश में इस बार सात चरणों में मतदान होना है. इसकी शुरुआत 10 फरवरी को पश्चिमी यूपी के 11 जिलों की 58 सीटों पर मतदान के साथ होगी. इसके बाद दूसरे चरण में राज्य की 55 सीटों पर मतदान होगा. वहीं, तीसरे चरण में 59, चौथे चरण में 60, पांचवें चरण में 60 सीटों, छठे चरण में 57 और सातवें चरण में 54 सीटों पर मतदान होगा. 10 फरवरी को पहले चरण के मतदान के बाद 14 फरवरी को दूसरे चरण, 20 फरवरी को तीसरे चरण, 23 फरवरी को चौथे चरण, 27 फरवरी को पांचवें चरण, 3 मार्च को छठे चरण और 7 मार्च को सातवें चरण के लिए मतदान होगा. वहीं, यूपी चुनाव के नतीजे 10 मार्च को आएंगे.

पिछले विधानसभा चुनाव के ऐसे थे नतीजे
उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2017 में भाजपा ने 403 में से 325 सीटों पर जीत दर्ज की थी. सपा और कांग्रेस ने साथ मिलकर चुनाव लड़ा था. सपा ने 47 और कांग्रेस ने 7 सीटें ही जीती थीं. मायावती की बसपा 19 सीटें जीतने में कामयाब रही थी. वहीं, 4 सीटों पर अन्य का कब्जा हुआ था.

Tags: Akhilesh yadav, CM Yogi Adityanath, Election Commission of India, Uttar Pradesh Assembly Elections, Uttar Pradesh Elections

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर