Home /News /uttar-pradesh /

UP Election : यूपी चुनाव के चौथे चरण में 60% मतदान, इस जिले में हुई बंपर वोटिंग, देखें पूरी लिस्‍ट

UP Election : यूपी चुनाव के चौथे चरण में 60% मतदान, इस जिले में हुई बंपर वोटिंग, देखें पूरी लिस्‍ट

चौथे चरण में 9 जिलों की 59 सीटों पर मतदान हुआ है.

चौथे चरण में 9 जिलों की 59 सीटों पर मतदान हुआ है.

UP Assembly Election 2022: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के चौथे चरण का मतदान (4th Phase Voting) संपन्‍न हो चुका है. इस चरण में 60 फीसदी वोटिंग हुई है, जो कि पिछले 2017 विधानसभा चुनाव (62.69 फीसदी) के मुकाबले कम है. इसके साथ रायबरेली, पीलीभीत, लखीमपुर खीरी, सीतापुर, हरदोई, लखनऊ, उन्नाव, फतेहपुर और बांदा की 59 सीटों पर 624 कैंडिडेट की किस्‍मत ईवीएम में बंद हो गयी है. बता दें कि पिछले चुनाव में भाजपा गठबंधन से इस चरण में रिकॉर्ड 51 सीटों पर कब्‍जा किया था.

अधिक पढ़ें ...

लखनऊ. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव (UP Assembly Election 2022) के चौथे चरण का मतदान (4th Phase Voting) खत्म हो चुका है. इस दौरान 60 फीसदी वोटिंग हुई है. हालांकि अभी यूपी चुनाव आयोग ने चौथे चरण के फाइनल आंकड़े अभी जारी नहीं किए हैं. इसके साथ रायबरेली, पीलीभीत, लखीमपुर खीरी, सीतापुर, हरदोई, लखनऊ, उन्नाव, फतेहपुर और बांदा की 59 सीटों पर 624 कैंडिडेट की किस्‍मत ईवीएम में बंद हो गयी है. हालांकि 2017 के विधानसभा चुनाव में इस चरण की 59 सीटों पर 62.69 फीसदी वोट पड़े थे. यही नहीं, अब तक पहले चार चरण में यूपी विधानसभा की 403 में से 231 सीटों के लिए वोट डाले जा चुके हैं.

यूपी विधानसभा चुनाव के चौथे चरण में पीलीभीत में सबसे ज्‍यादा 67.16 फीसदी मतदान हुआ है. वहीं, अगर सबसे कम मतदान की बात करें तो उन्‍नाव में 58.95 प्रतिशत वोट पड़े हैं. इसके अलावा लखीमपुर खीरी में 62.42, सीतापुर में 58.39, हरदोई में 55.29, लखनऊ में 61.01, रायबरेली में 61.94, बांदा में 57.54 और फतेहपुर में 57.02 फीसदी वोटिंग हुई है. उत्तर प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी अजय कुमार शुक्ला के मुताबिक, चुनाव की घोषणा के बाद से चौथे चरण के मतदान खत्‍म होने तक 9 जिलों में 6.85 करोड़ रुपये नकद और 3.76 लाख लीटर शराब जब्त की गई है. साथ ही बताया कि इस दौरान चुनाव आचार संहिता उल्लंघन की 503 घटनाओं को नोट किया गया और आवश्यक कार्रवाई की गई है.

चौथे चरण में इन दिग्‍गजों की किस्‍मत ईवीएम में हुई बंद
यूपी चुनाव के चौथे चरण में लखनऊ पूर्वी विधानसभा सीट से भाजपा के आशुतोष टंडन, लखनऊ की ही सरोजनी नगर सीट से भाजपा प्रत्‍याशी और ईडी के ज्‍वाइंट डायरेक्‍टर रहे राजेश्‍वर सिंह और ऊंचाहार से सपा के दिग्‍गज नेता मनोज पांडेय मैदान में हैं. इसके अलावा रायबरेली सदर से भाजपा की अदिति सिंह, हरदोई की संडीला से बसपा के पूर्व मंत्री अब्‍दुल मन्‍नान, फतेहपुर की हुसैनगंज सीट से योगी के मंत्री रणवेंद्र प्रताप सिह उर्फ धुन्‍नी सिंह और फतेहपुर की बिदंकी से अपना दल (एस) के जय कुमार सिंह जैकी जैसे कई बड़े नेताओं की किस्‍मत ईवीएम में बंद हो गयी है. बहरहाल, पिछले चुनाव में इस चरण में भाजपा का दबदबा रहा था,इसलिए उसके ही ज्‍यादा नेताओं पर सबकी नजरें हैं.

पिछले चुनाव मे ऐसा था आंकड़ा
2017 के विधानसभा चुनाव में इस चरण की 59 विधानसभा सीटों में से करीब 90 फीसदी पर भाजपा गठबंधन ने कब्‍जा किया था. दरअसल भाजपा ने इनमें से 51 सीटों पर जीत हासिल की थी. जबकि एक सीट उसके सहयोगी अपना दल (एस) के खाते में गई थी. वहीं, समाजवादी पार्टी को चार, तो कांग्रेस और बहुजन समाज पार्टी को दो-दो सीट पर जीत मिली थी. वहीं, यूपी चुनाव 2022 से पहले कांग्रेस के दो और बसपा के एक विधायक ने भाजपा का दामन थाम लिया था.

पिछली बार 9 में चार जिलों भाजपा ने किया था क्‍लीन स्‍वीप
विधानसभा चुनाव 2017 में भाजपा गठबंधन ने 9 जिलों में से 4 में क्‍लीन स्वीप किया था. इस दौरान भाजपा ने पीलीभीत की सभी चार सीटें, लखीमपुर खीरी की आठ, बांदा की 6 और फतेहपुर की 6 सीटें जीती थीं, जिसमें एक अपना दल (एस) के खाते में गई थी. वहीं, भाजपा को हरदोई की 8 सीटों में से सात, तो एक सपा को मिली थी. सीतापुर में भाजपा ने सात सीटें जीती थीं. जबकि बसपा और सपा को एक-एक सीट मिली है. वहीं,भाजपा ने लखनऊ की नौ में से आठ सीटों पर कब्‍जा किया था. सपा एक सीट जीतने में सफल रही थी. इसके अलावा सोनिया गांधी के रायबरेली में भी भाजपा की धमक दिखी थी और 6 में से तीन सीटों पर कब्‍जा किया था. इसके अलावा रायबरेली की दो सीट पर कांग्रेस और एक पर सपा ने अपना परचम लहराया था.

Tags: Akhilesh yadav, CM Yogi Adityanath, Mayawati, Uttar Pradesh Assembly Elections, Uttar Pradesh Elections

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर