Home /News /uttar-pradesh /

UP Assembly Election 2022: स्‍वामी प्रसाद मौर्य के बयान को भुला पाएंगे मुसलमान? जानें क्‍या कहा था 5 साल पहले

UP Assembly Election 2022: स्‍वामी प्रसाद मौर्य के बयान को भुला पाएंगे मुसलमान? जानें क्‍या कहा था 5 साल पहले

UP Chunav 2022: भाजपा छोड़ने वाले स्‍वामी प्रसाद मौर्य के सपा में जाने की अटकलें हैं. (न्‍यूज 18 हिन्‍दी

UP Chunav 2022: भाजपा छोड़ने वाले स्‍वामी प्रसाद मौर्य के सपा में जाने की अटकलें हैं. (न्‍यूज 18 हिन्‍दी

Swami Prasad Old Statement on Triple Talaq: भाजपा का दामन छोड़ने वाले उत्‍तर प्रदेश के वरिष्‍ठ नेता स्‍वामी प्रसाद मौर्य इन दिनों सुर्खियों में हैं. गैर यादव ओबीसी वोट बैंक में उनकी अच्‍छी पकड़ मानी जाती है. हालांकि, अभी तक इसकी औपचारिक घोषणा नहीं हुई है, लेकिन अखिलेश यादव के साथ उनकी तस्‍वीर समने आने के बाद यह माना जा रहा है कि वह सपा का दामन थामने वाले हैं. इस बीच, अप्रैल 2017 में तीन तलाक पर उनका दिया हुआ बयान भी चर्चा में है. ऐसे में सवाल उठ रहा है कि क्‍या मुस्लिम समुदाय तकरीबन पांच साल पहले दिए गए उनके बयान को इस बार के विधानसभा चुनाव में भुला पाएंगे?

अधिक पढ़ें ...

लखनऊ. योगी आदित्‍यनाथ सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे स्‍वामी प्रसाद मौर्य ने भाजपा का दामन छोड़ दिया है. मौर्य समाजवादी पार्टी की टिकट पर विधानसभा चुनाव (UP Assembly Election 2022) लड़ सकते हैं. हालांकि, अभी तक इस बात की औपचारिक घोषणा नहीं हुई है. उत्‍तर प्रदेश में मुस्लिम समुदाय की आबादी 20 फीसद से ज्‍यादा है. विधानसभा की दर्जनों सीटों पर मुस्लिम मतदाता निर्णायक भूमिका में हैं. खास बात यह है कि सपा की मुस्लिम मतदाताओं पर अच्‍छी-खासी पकड़ मानी जाती है. स्‍वामी प्रसाद मौर्य ने तीन तलाक पर काफी विवादित बयान दिया था. अब ऐसे में सवाल उठता है कि यदि स्‍वामी प्रसाद मौर्य सपा में शामिल होते हैं तो क्‍या मुस्लिम मतदाता उनसे बिदकेंगे? या फिर मुस्लिम समुदाय ने तकरीबन 5 साल पहले तीन तलाक के मुद्दे पर स्‍वामी प्रसाद मौर्य द्वारा दिए गए बयान को भुला दिया है.

दरअसल, स्‍वामी प्रसाद मौर्य ने अप्रैल 2017 में तीन तलाक के मुद्दे पर काफी विवादित बयान दिया था. स्‍वामी प्रसाद मौर्य उस वक्‍त योगी कैबिनेट में मंत्री थे. बस्‍ती में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्‍होंने कहा था कि मुस्लिम तीन तलाक का इस्‍तेमाल पत्नियां बदलने और अपनी हवस मिटाने के लिए करते हैं. उन्‍होंने कहा था, ‘तीन तलाक का कोई आधार नहीं है. अगर कोई सिर्फ अपनी हवस शांत करने के पत्नी बदल रहा है और पत्नी-बच्चों को सड़क पर भीख मांगने को मजबूर कर रहा है, तो इसे कोई अधिकार नहीं कहेगा.’ जनसभा को संबोधित करते हुए स्‍वामी प्रसाद मौर्य ने कहा था कि बीजेपी ऐसी मुस्लिम महिलाओं के साथ है, जिन्हें बेवजह और मनमाने ढंग से तीन तलाक दिया गया.

UP Chunav: प्रियंका गांधी ने जारी की 125 प्रत्याशियों की पहली लिस्‍ट, जानें कौन कहां से लड़ेगा चुनाव

 स्‍वामी प्रसाद मौर्य ने बढ़ा दिया सियासी पारा
उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव से ठीक पहले स्वामी प्रसाद मौर्य
ने अचानक योगी कैबिनेट से इस्तीफा देकर राज्य का सियासी पारा बढ़ा दिया. सपा में शामिल होने पर अब तक सस्पेंस रखने वाले स्वामी प्रसाद मौर्य ने अपने सियासी पत्ते खोल दिए हैं. भाजपा से अलग होने वाले स्वामी प्रसाद मौर्य साइकिल की ही सवारी करेंगे. स्वामी प्रसाद मौर्य ने साफ कर दिया है कि वह 14 जनवरी को समाजवादी पार्टी ज्वाइन करेंगे. उन्होंने कहा कि इस दौरान जो भी साथ आना चाहते हैं, सभी का स्वागत है.

भाजपा छोड़ने वालों की लगी कतार
स्‍वामी प्रसाद मौर्य द्वारा भाजपा का दामन छोड़ने के बाद बीजेपी छोड़ने वाले नेताओं की कतार लग गई है. विधानसभा चुनाव का ऐलान होने के बाद भाजपा से कई नेता इस्‍तीफा दे चुके हैं. इसे भाजपा के लिए राजनीतिक झटके की तरह देखा जा रहा है. वहीं, भाजपा इस मसले पर अभी कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है. फिलहाल विधानसभा चुनाव के पहले पाला बदलने वाले नेताओं ने प्रदेश की सियासत को गरमा दिया है.

Tags: Assembly Election, Uttar Pradesh Assembly Elections, Uttar Pradesh Elections

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर