कोरोना काल में हर दिन जरूरतमंद लोगों को मुफ्त भोजन करा रही है योगी सरकार

उत्तर प्रदेश सरकार का दावा है कि प्रदेश में हर जरूरतमंद तक उसके कम्यूनिटी किचन से भोजन पहुंच रहा है. (File Photo)

यूपी में श्रमिक, ठेला, रेहड़ी व्यवसाई, दिहाड़ी मजदूरों को रोज मिल रहा भरपेट भोजन. योगी सरकार के 416 कम्युनिटी किचन 51 लाख 3 हजार 7 सौ 30 लोगों को कर चुके फूड पैकेट का वितरण. गैर सरकारी स्वैच्छिक संस्थाओं के 158 कम्युनिटी किचन भी जरूरतमंदों को करा रहे भोजन.

  • Share this:
    लखनऊ. कोरोनाकाल में लाखों लोगों को रोजाना निशुल्क भरपेट भोजन कराने वाला राज्य बन गया है उत्तर प्रदेश. श्रमिक, ठेला, रेहड़ी व्यवसाई, दिहाड़ी मजदूरों को भोजन की समस्या न हो और प्रदेश में कोई भूखा न रहे, इस उद्देश्य से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की ओर से यूपी के प्रत्येक जनपद में कम्युनिटी किचन की सकारात्मक पहल जरूरतमंदों का बड़ा सहारा बनी है. सरकार ने 75 जिलों में 416 कम्युनिटी किचन की स्थापना की है. इन सरकारी कम्युनिटी किचन के माध्यम से फूड पैकेट लोगों तक मुफ्त पहुंचाए जा रहे हैं. इस पहल में सरकार का साथ स्वैच्छिक व निजी संस्थाएं भी दे रही हैं. उनकी ओर से प्रदेश में 158 कम्युनिटी किचन संचालित किए गए हैं.

    सरकारी और संस्थाओं के कम्युनिटी किचन ने की है जरूरतमंदों की मदद

    प्रदेश में 416 सरकारी कम्युनिटी किचन से आज तक 6116 क्षेत्रों व मोहल्लों में 51 लाख 3 हजार 7 सौ 30 लोगों के बीच फूड पैकेट का वितरण किया जा चुका है. जरूरतमंदों, गरीबों को निशुल्क भोजन कराने के लिए गैर सरकारी स्वैच्छिक संस्थाओं की ओर से भी लगातार प्रयास किए जा रहे हैं. प्रदेश में संस्थाओं की ओर से 158 कम्युनिटी किचन संचालित हैं. इनके माध्यम से अभी तक 3145 मोहल्लों में कुल 60 लाख 4 हजार 4 सौ 63 लोगों के बीच फूड पैकेटों का वितरण किया गया है. देश में किसी अन्य राज्य के मुकाबले कोरोनाकाल में इतनी बड़ी संख्या में कम्युनिटी किचन संचालित करके लाखों लोगों को भोजन कराने में भी उत्तर प्रदेश पहले स्थान पर बना हुआ है. सरकार की ओर से किए जा रहे प्रयास से लोगों ने राहत की सांस ली है. कोरोना कर्फ्यू के दौरान उनको भोजन की कमी नहीं आने दी गई है.

    नगर निगमों में सामुदायिक रसोई करा रही लोगों को निशुल्क भोजन

    सरकार की ओर से कोविड अस्पतालों में भी मरीजों के तीमादारों के लिए कम्युनिटी किचन बनवाए गए हैं. सरकार की पहल को आगे बढ़ाते हुए प्रदेश के सभी नगर निगमों ने सामुदायिक रसोई की शुरुआत की है. इसके माध्यम से शहर में बस्तियों और जरूतमंदों को रोजाना भोजन कराया जा रहा है. महापौर, पार्षद और नगर निगम कर्मचारी इस काम में तेजी से जुटे हुए हैं.