Home /News /uttar-pradesh /

लोकसभा चुनाव: यूपी में आते ही अपनी धमक का एहसास कराने लगे हैं ज्योतिरादित्य सिंधिया

लोकसभा चुनाव: यूपी में आते ही अपनी धमक का एहसास कराने लगे हैं ज्योतिरादित्य सिंधिया

File Photo

File Photo

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने आते ही पश्चिम उत्तर प्रदेश के दिग्गज बीजेपी नेता अवतार सिंह भड़ाना की कांग्रेस में घर वापसी करा दी. इसके अलावा पुलवामा में शहीद हुए जवानों तक सीधे पहुंचने की कवायद शुरू कर दी है.

उत्तर प्रदेश में कांग्रेस पार्टी दोबारा उठ खड़े होने की जी-तोड़ कोशिश करती दिख रही है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपनी बहन प्रियंका गांधी और मध्यप्रदेश के दिग्गज नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया को यूपी के मोर्चे पर उतार दिया है. दोनों ही नेता मैराथन बैठकें कर संगठन को चुस्त-दुरुस्त करने और आक्रामक रणनीति बनाने में जुट गए हैं. इसमें ज्योतिरादित्य सिंधिया अपनी रणनीति से विपक्षी दलों को चौंकाने भी लगे हैं. इसके साथ ही पश्चिम उत्तर प्रदेश में धीरे-धीरे उनकी धमक का एहसास होने लगा है.

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने आते ही पश्चिम उत्तर प्रदेश के दिग्गज बीजेपी नेता अवतार सिंह भड़ाना की कांग्रेस में घर वापसी करा दी. इसके अलावा पुलवामा में शहीद हुए जवानों तक सीधे पहुंचने की कवायद शुरू कर दी है. इसके अलावा संगठन को बूथ स्तर पर सक्रिय करने की रणनीति पर तेजी से काम करना शुरू कर दिया है.

कांग्रेस ने यूपी में बीजेपी को दिया पहला झटका, MLA अवतार सिंह भड़ाना शामिल

बता दें, अवतार सिंह भड़ाना का पश्चिम यूपी में बड़ा रसूख है और गुर्जर बेल्ट में उनकी काफी अच्छी पकड़ भी है. अवतार सिंह भड़ाना मुजफ्फरनगर के मीरापुर से बीजेपी विधायक हैं. भड़ाना फरीदाबाद से तीन बार और एक बार मेरठ लोकसभा क्षेत्र से सांसद रह चुके हैं. 2014 का लोकसभा चुनाव अवतार भड़ाना ने फ़रीदाबाद संसदीय सीट से कांग्रेस के टिकट पर लड़ा था, तब उनके सामने बीजेपी के कृष्णपाल गुर्जर विजयी हुए थे. इसके बाद उन्होंने 2017 का विधानसभा चुनाव बीजेपी के टिकट पर लड़ा और विजयी रहे. भड़ाना का बीजेपी छोड़कर कांग्रेस में शामिल होने का असर यूपी के साथ पड़ोसी राज्य हरियाणा में भी देखने को मिल सकता है.

यूपी में प्रियंका, सिंधिया की मदद के लिए कांग्रेस ने राजस्थान से भेजे दो दिग्गज नेता

इसके अलावा कांग्रेस पार्टी ने पुलवामा आतंकी हमले के बाद अब शहीद परिवारों तक सीधे पहुंचने का प्लान तैयार किया है. इसमें भी ज्योतिरादित्य सिंधिया की अहम भूमिका मानी जा रही है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने इसकी शुरुआत भी सिंधिया के प्रभार क्षेत्र पश्चिम उत्तर प्रदेश के शामली जनपद से कर दी है. गुरुवार को राहुल गांधी, प्रियंका गांधी और ज्योतिरादित्य सिंधिया एक साथ शामली पहुंचे.

इस दौरान ज्योतिरादित्य सिंधिया खुद इनोवा को ड्राइव करते दिखे. वहीं राहुल और प्रियंका पिछली सीट पर बैठे दिखे. इन लोगों ने पुलवामा आतंकी हमले में शहीद हुए शामली के अमित कोरी और प्रदीप के परिजनों से मुलाकात की. इस दौरान राहुल ने शहीद के परिवार से कहा- 'हमने भी पिता को खोया है. आपका दर्द अच्छी तरह समझता हूं.'

तस्वीरों में देखिए कैसे राहुल गांधी और प्रियंका को देखकर रो पड़े शहीदों के परिजन

इसी क्रम में ज्योतिरादित्य सिंधिया ने खुद पश्चिमी यूपी के सभी शहीद जवानों के परिवारों से मुलाकात की रणनीति पर अमल करना शुरू कर दिया है. 23 फरवरी सिंधिया आगरा पहुंच रहे हैं. वे यहां सबसे पहले शहीदों के परिजनों से मुलाकात करेंगे और इसके बाद अपनी आगे की यात्रा तय करेंगे.

ज्योतिरादित्य सिंधिया का 23 फरवरी को आगरा दौरा, इन जिलों में शहीदों को देंगे श्रद्धांजलि

ज्योतिरादित्य सिंधिया 23 फरवरी को दिल्ली से सुबह छह बजे शताब्दी ट्रेन आगरा के लिए रवाना होंगे और 8:30 बजे आगरा कैंट रेलवे स्टेशन पहुंचेंगे. यहां से सिंधिया कांग्रेस नेताओं के साथ पुलवामा हमले में शहीद हुए कौशल रावत के गांव कहरई पहुंचेंगे. शहीद के परिजनों से मिलने के बाद सुबह 11.30 बजे मैनपुरी के लखनमऊ में शहीद राम वकील को श्रद्धांजलि देंगे.

यहां से ज्योतिरादित्य सिंधिया कन्नौज के लिए रवाना हो जाएंगे. ढाई बजे शहीद प्रदीप सिंह के आवास जाएंगे. फिर कांग्रेस महासचिव सीधे कानपुर के लिए रवाना हो जाएंगे. यहां डेरापुर में शहीद श्याम बाबू को श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे. कानपुर देहात से सिंधिया सीधे झांसी पहुंचेंगे जहां वह रात को रुकेंगे.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsAppअपडेट्स

Tags: All India Congress Committee, Jyotiraditya Madhavrao Scindia, Priyanka gandhi, Rahul gandhi, लखनऊ

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर