होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /Rose Day 7th February: गुलाब ही क्यों है प्यार और भरोसे की निशानी, जानें ये दिलचस्प कहानी

Rose Day 7th February: गुलाब ही क्यों है प्यार और भरोसे की निशानी, जानें ये दिलचस्प कहानी

Valentines Week: डॉ. रवि भट्ट ने बताया कि गुलाब हमेशा से लोगों को सम्मोहित करता रहा है. बात करें प्यार की तो ग्रीक पौरा ...अधिक पढ़ें

रिपोर्ट : अंजलि सिंह राजपूत

लखनऊ. क्या आपने कभी सोचा है की लाल गुलाब को ही प्यार का प्रतीक क्यों माना जाता है. या आपने अक्सर देखा होगा कि कोई भी अपने प्यार का इजहार करता है तो सिर्फ एक गुलाब से ही करता है. आखिर क्या वजह है कि गुलाब को इतना रोमांटिक माना जाता है. यही कहानी जानने के लिए लोकल18 की टीम पहुंची देश के जाने-माने इतिहासकार डॉ. रवि भट्ट के पास.

डॉ. रवि भट्ट ने बताया कि गुलाब हमेशा से लोगों को सम्मोहित करता रहा है. बात करें प्यार की तो ग्रीक पौराणिक कथाओं में इसका जिक्र है कि एक बार सौंदर्य, प्रेम और कामुकता की देवी एफ़्रोडाइट गुलाब के बगीचे में घूम रही थीं. इसी दौरान कामदेव उन्हें देखकर मंत्रमुग्ध हो गए. यहीं से गुलाब को प्यार का प्रतीक माना जाने लगा.

आपके शहर से (लखनऊ)

सफेद गुलाबों को लाल कर दिया

एक दूसरी कहानी यह भी कही जाती है कि एफ़्रोडाइट का प्रेमी एडोनिस घायल हो गया था, तो उसने एडोनिस के पास जल्द पहुंचने के लिए दौड़ लगाई. इस जल्दबाजी में सफेद गुलाब के कांटों पर उसने अपना पैर रख दिया था. उसके खून ने सफेद गुलाब को लाल कर दिया था. इसलिए लाल गुलाब को अटूट प्रेम का प्रतीक माना जाने लगा. तब से हर प्यार करने वाला इस दिन अपनी प्रेमिका या प्रेमी को लाल गुलाब ही देता है.

ईसाई और रोमन में भी है खास

इतिहासकार डॉ. रवि भट्ट ने बताया कि रोमन पौराणिक कथाओं की बात करें तो उसमें लाल गुलाब को दिल के अंदर की छुपी हुई इच्छा को सामने लाना या उसका इजहार करने का प्रतीक माना गया है. ईसाई पौराणिक कथाओं में लाल गुलाब को मन की शुद्धता और विश्वास का प्रतीक माना जाता है. यानी अगर आप किसी पर विश्वास करते हैं तो आप उसे लाल गुलाब दे सकते हैं.

Tags: Love Story, Lucknow news, Valentine week

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें