लाइव टीवी

राशिद पाकिस्तानी माशूका के लिए बना ISI एजेंट, देश से गद्दारी के आरोप में हुआ गिरफ्तार

Rishabh Mani | News18 Uttar Pradesh
Updated: January 21, 2020, 8:35 AM IST
राशिद पाकिस्तानी माशूका के लिए बना ISI एजेंट, देश से गद्दारी के आरोप में हुआ गिरफ्तार
वाराणसी से पकड़ा गया आईएसआई एजेंट राशिद.

राशिद ने पाकिस्तानी ISI एजेंट को वाराणसी कैंट, अमेठी के सीआरपीएफ कैंप और प्रधानमंत्री मोदी (PM Modi) की रैली की तस्वीरें भेजी थीं.

  • Share this:
लखनऊ. वाराणसी से गिरफ्तार आईएसआई एजेंट (ISI Agent) राशिद से पूछताछ और उसके मोबाइल से यूपी एटीएस (UP ATS) को अहम जानकारियां मिली हैं. राशिद ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) की वाराणसी रैली की तस्वीरें पाकिस्तान (Pakistan) में बैठे अपने आकाओं को भेजी थीं. फिलहाल राशिद की तीन दिन की कस्टडी रिमांड एटीएस को मिली है. रिमांड के दौरान राशिद को वाराणसी और चंदौली भी ले जाया जाएगा.

मौसी के बेटे ने करवाई ISI एजेंट से मुलाकात
शुरुआती पूछताछ में एटीएस को राशिद की पूरी कहानी पता चली है. राशिद साल 2017 और वर्ष 2018 में अपनी मौसी के घर करांची गया था. साल 2018 में मौसी के बेटे शाहजेब ने राशिद को आईएसआई के एजेंटों से मिलवाया था. राशिद को पाकिस्तान में रहने वाले अपने मामू की बेटी से प्रेम हो गया था. आईएसआई को इस बात की जानकारी हो गई थी. आईएसआई के एजेंट ने राशिद का निकाह उसकी प्रेमिका से कराने का वादा किया था. एजेंट ने जासूसी के जरिए राशिद को कमाई का जरिया भी दिया. ISI एजेंट के कहने पर राशिद ने दो भारतीय सिमकार्ड खरीदे थे और उसका ओटीपी पाकिस्तानी आकाओं को दे दिया था. पाकिस्तान में बैठे ISI एजेंट ने ओटीपी के जरिए सिमकार्ड पर व्हाट्सएप एक्टिवेट किया और राशिद को सिमकार्ड तोड़ने का हुक्म दिया. इस काम के लिए पाकिस्तानी एजेंट ने राशिद के गांव के रहने वाले रिज़वान के पेटीएम एकाउंट में पांच हजार रुपये डाले जो रिज़वान ने राशिद को दिए थे.

भेजी थीं ये जानकारियां

राशिद ने पाकिस्तानी एजेंटों को वाराणसी कैंट, सीआरपीएफ कैंप अमेठी और प्रधानमंत्री मोदी की रैली की तस्वीरें भेजी थीं. इससे पहले मिलिट्री इंटेलीजेंस के इनपुट पर यूपी एटीएस ने वाराणसी से आईएसआई एजेंट राशिद को गिरफ्तार किया था.

ये भी पढ़ें:

कानपुर के इतिहास में पहली बार मैच से पहले कोयले वाले प्रेस से सुखाई क्रिकेट पिच

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 21, 2020, 8:14 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर