VIDEO: ‘प्रेजेंट मैम’ नहीं बोला तो 8 साल के मासूम को टीचर ने 2 मिनट में जड़े 40 थप्पड़

राजधानी लखनऊ के एक प्राइवेट स्कूल में एक टीचर की हैवानियत देखने को मिली है. पीजीआई इलाके में स्थित जॉन विनी स्कूल की एक टीचर स्वर कक्षा तीन के के छात्र को बेरहमी से पिटाई करने वाला सीसीटीवी फुटेज सामने आया है.

News18Hindi
Updated: August 31, 2017, 1:02 PM IST
News18Hindi
Updated: August 31, 2017, 1:02 PM IST
राजधानी लखनऊ के एक प्राइवेट स्कूल में एक टीचर को इतना गुस्‍सा आ गया कि 2 मिनट के अंदर उसने 8 साल के बच्‍चे को 40 तमाचे जड़ दिए. पीजीआई इलाके में स्थित जॉन विनी स्कूल की एक टीचर की कक्षा तीन के छात्र को बेरहमी से पिटाई करने वाला सीसीटीवी फुटेज सामने आया है.

महज दो मिनट के इस सीसीटीवी फुटेज में टीचर रेटिका वी जॉन छात्र रितेश गुप्ता पर ताबड़तोड़ 40 थप्पड़ जड़ते हुए कैद हुई हैं. इतना ही नहीं टीचर ने छात्र का कॉलर पकड़ कर उसे घसीटा, गला दबाया और सिर ब्लैकबोर्ड पर दे मारा.

इस दौरान छात्र रितेश अपनी मैम से रहम की गुहार भी लगता रहा, लेकिन टीचर का दिल नहीं पसीजा. छात्र रितेश का कसूर सिर्फ इतना था कि उसने अटेंडेंस के दौरान प्रेजेंट मैम नहीं बोला था. मामला तब सामने आया जब छत्र रितेश अपने घर पहुंचा. घर में रितेश गुमसुम था और उसके गाल सूजे हुए थे. पिता प्रवेन्द्र गुप्ता ने उससे पूछा भी लेकिन उसने कुछ नहीं बताया.

इसके बाद पिता ने उसके स्कूल में पढ़ने वाले दोस्तों से पूछताछ की तो बताया गया उसे सजा मिली है. इसके बाद बुधवार को पिता प्रवेन्द्र स्कूल जाकर प्रिंसिपल रोनाल्ड रोद्रिंग्स से मुलाकात की और कहा कि लगता है बेटे के साथ मारपीट की गई है. वह सहमा हुआ है, इसलिए कुछ बोल नहीं रहा है.

इसके बाद पिता प्रवेन्द्र ने उसके क्लास में लगे सीसीटीवी कैमरे को चेक करने को कहा. जिसके बाद प्रिंसिपल ने फुटेज निकलवा लिए. फुटेज देखते ही प्रवेन्द्र और प्रिंसिपल के होश उड़ गए.

फुटेज में सातवें पीरियड में क्लास अटेंडेंस लेने आई टीचर रेटिका बच्चे को बेरहमी से पिटती नजर आई. इसके बाद प्रिंसिपल ने टीचर को फटकार लगाते हुए उसे तुरंत स्कूल से निकाल दिया. हालांकि टीचर ने माफ़ी भी मांगी लेकिन प्रिंसिपल नहीं माने.

इस बीच पिता प्रवेन्द्र ने टीचर को सजा दिलाने के लिए पुलिस से शिकायत कर दी है. पीजीआई एसओ बृजेश राय ने बताया कि छात्र के पिता ने शिकायत की है. मामले की जांच की जा रही है.छात्र रितेश ने बताया कि जब मैम ने उसका नाम पुकारा तो वह ड्राइंग में खोया हुआ था. उसे आवाज सुनाई नहीं दी. जिसके बाद मैम गुस्सा हो गईं और मुझे मारने लगीं.
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

वोट करने के लिए संकल्प लें

बेहतर कल के लिए#AajSawaroApnaKal
  • मैं News18 से ई-मेल पाने के लिए सहमति देता हूं

  • मैं इस साल के चुनाव में मतदान करने का वचन देता हूं, चाहे जो भी हो

    Please check above checkbox.

  • SUBMIT

संकल्प लेने के लिए धन्यवाद

जिम्मेदारी दिखाएं क्योंकि
आपका एक वोट बदलाव ला सकता है

ज्यादा जानकारी के लिए अपना अपना ईमेल चेक करें

डिस्क्लेमरः

HDFC की ओर से जनहित में जारी HDFC लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड (पूर्व में HDFC स्टैंडर्ड लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड). CIN: L65110MH2000PLC128245, IRDAI R­­­­eg. No. 101. कंपनी के नाम/दस्तावेज/लोगो में 'HDFC' नाम हाउसिंग डेवलपमेंट फाइनेंस कॉर्पोरेशन लिमिटेड (HDFC Ltd) को दर्शाता है और HDFC लाइफ द्वारा HDFC लिमिटेड के साथ एक समझौते के तहत उपयोग किया जाता है.
ARN EU/04/19/13626

News18 चुनाव टूलबार

  • 30
  • 24
  • 60
  • 60
चुनाव टूलबार