विकास दुबे की गिरफ्तारी से चर्चा में आई ये कार, गाड़ी मालिक ने किया ये दावा
Indore News in Hindi

विकास दुबे की गिरफ्तारी से चर्चा में आई ये कार, गाड़ी मालिक ने किया ये दावा
यह गाड़ी लखनऊ के इंदिरानागर के मनोज यादव पुत्र बजरंग यादव के नाम से दर्ज है.

पता चला है कि बरामद गाड़ी लखनऊ के इंदिरानागर के मनोज यादव पुत्र बजरंग यादव के नाम से दर्ज है. यह वर्ष 2019 में खरीदी गई थी. मनोज यादव लखनऊ के इंदिरानगर में मकान नंबर 16/294 में रहता है.

  • Share this:
लखनऊ/उज्जैन: यूपी का मोस्ट वांटेड क्रिमिनल विकास दुबे (Vikas Dubey) गिरफ्तार कर लिया गया है. उसे उज्जैन के महाकाल मंदिर (Mahakal Temple) से गिरफ्तार किया गया है. वहीं, देवास गेट पुलिस ने 2 लोगों को लखनऊ के रजिस्ट्रेशन नंबर की एक गाड़ी (मारुत ब्रेजा) के साथ पकड़ा है. पुलिस के अनुसार, इसी गाड़ी से विकास दुबे महाकाल मंदिर पहुंचा था. नम्बर प्लेट पर हाईकोर्ट लिखा हुआ है. यह भी पता चला है कि महाकाल मंदिर में वीआईपी पास के माध्यम से विकास दुबे दाखिल हुआ था.

पता चला है कि यह गाड़ी लखनऊ के इंदिरानागर के मनोज यादव पुत्र बजरंग यादव के नाम से दर्ज है. यह वर्ष 2019 में खरीदी गई थी. मनोज यादव लखनऊ के इंदिरानगर में मकान नंबर 16/294 में रहता है. इधर, न्यूज 18 से बातचीत में मनोज यादव ने कहा कि विकास दुबे से मेरा कोई संबंध नहीं है. न तो मैं विकास को लेकर आया न वह मेरी गाड़ी के आसपास आया. मैं लगातार उज्जैन आता रहता हूं. पुलिस ने मुझसे पूछताछ की है, मैंने सारे डॉक्यूमेंट दिखाए, पुलिस ने हमें छोड़ दिया है. मेरा विकास से कोई संबंध नहीं है. पुलिस अपना काम करेगी. इसके बाद लखनऊ में पुलिस मनोज यादव के इंदिरानगर स्थित आवास पहुंची. वहां मौजूद पत्नी अंजू यादव से भी पूछताछ की गई. उन्होंने कहा कि पति का विकास दुबे से कोई संबंध नहीं है. वे काम के सिलसिले में उज्जैन गए थे. मनोज यादव हाईकोर्ट में वकील हैं. मनोज यादव ने कहा कि उनकी गाड़ी उस जगह से पांच किलोमीटर दूर थी, जहां से विकास दुबे गिरफ्तार हुआ.

गिरफ्तारी नहीं हैंडओवर करेगी एमपी पुलिस



पता चला है कि एमपी पुलिस विकास दुबे को गिरफ्तार नहीं करेगी. वहीं, यूपी पुलिस को हैंडओवर कर देगी. इसके लिए यूपी एसटीएफ चार्टर्ड प्लेन से इंदौर पहुंच रही है. विकास दुबे को भी उज्जैन से इंदौर ले जाया जाएगा. इसके साथ ही गैंगस्टर विकास दुबे से एमपी पुलिस पूछताछ में भी जुटी है. पुलिस को कुछ और संदिग्धों के बारे में पता चला है. उज्जैन के कई इलाकों में सर्च किया जा रहा है. विकास दुबे के साथ कुछ और लोगों के उज्जैन में होने का शक है.
एक शराब करोबारी से मिले लिंक
उज्जैन के एक शराब कारोबारी से विकास दुबे के तार जुड़े मिले हैं. पुलिस सूत्रों के मुताबिक उज्जैन के नागझिरी क्षेत्र से शराब कारोबारी को पकड़ा गया. कारोबारी मूल रूप चित्रकूट का रहने वाला है. पुलिस को शक है कि इसी कारोबारी ने दुबे को योजनाबद्ध तरीके से उज्जैन बुलाया. पुलिस ने हिरासत में लेकर सख्ती से पूछताछ की शुरू कर दी है.

इनपुट: अनामिका सिंह/आनंद निगम
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading