COVID-19: होम क्वारंटाइन के उल्लंघन की शिकायत पर बीडीओ के साथ एसडीएम सदर पहुंची गांव, फिर....
Lucknow News in Hindi

COVID-19: होम क्वारंटाइन के उल्लंघन की शिकायत पर बीडीओ के साथ एसडीएम सदर पहुंची गांव, फिर....
एसडीएम सदर और बीडीओ ने होम क्वारंटाइन लोगों का जाना हाल

जांच के दौरान होम क्वारेन्टाइन (Home Quarantine) किए गए लोगों द्वारा नियमों का उल्लंघन पाए जाने पर कड़ी फटकार लगाते हुए चेतावनी भी दी कि COVID-19 से बचाव के लिए ग्रामीणों के हित में दोबारा उल्लंघन पाए जाने पर उन्हें संस्थागत क्वारेन्टाइन (Institutional quarantine) कर दिया जाएगा.

  • Share this:
लखनऊ. राजधानी लखनऊ के गांव लौलाई में होम क्वारंटाइन (Home Quarantine) के उल्लंघन की शिकायत पर गुरुवार शाम एसडीएम सदर बीडीओ चिनहट के साथ गांव पहुंच गईं. इस गांव में दूसरे प्रदेशों से आए 97 लोगों को प्रशासन द्वारा होम क्वारंटाइन में रहने की हिदायत दी गई है. एसडीएम सदर ने पहले तो होम क्वारंटाइन का उल्लंघन करने वालों व उनके घर वालों की जमकर क्लास लगाई फिर उन्हें राशन किट भी देने का काम किया. साथ ही उन्हें चेतावनी भी दी गई कि अगर उनकी शिकायत दोबारा आई तो गांव वालों के हित में उन्हें इंस्टीट्यूशनल क्वारंटाइन (Institutional Quarantine) करवा दिया जाएगा.

निगरानी समिति के कार्यों की हुई समीक्षा
दरअसल वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के मद्देनजर देशव्यापी लॉकडाउन है जिसके चलते काम-धंधे सब ठप हो गए और बड़ी संख्या में प्रवासी कामगार अपने घरों को लौट आए. इसी क्रम में उत्तर प्रदेश में भी लाखों की संख्या में प्रवासी कामगारों की घर वापसी हुई है. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में भी बड़ी संख्या में प्रवासी कामगार अपने घरों को लौट आए हैं. चिनहट क्षेत्र के लौलाई गांव में बड़ी संख्या में बाहर से आए लोगों को होम क्वारंटाइन में रहने के निर्देश हैं. उप-जिलाधिकारी सदर और बीडीओ चिनहट ने गुरुवार को लौलाई गांव का भ्रमण कर ग्राम निगरानी समिति के कार्यों की भी समीक्षा की और साथ में होम क्वारेन्टाइन (Home quarantine) किए गए लोगों का हाल-चाल जाना. दरअसल यूपी सरकार ने कोरोना के खतरे को देखते हुए बाहर से आए लोगों को 21 दिन अपने-अपने घरों में ही क्वारेन्टाइन होने के आदेश दिए हैं और उनकी निगरानी के लिए मोहल्ले और गांव स्तर पर ही निगरानी समितियां बनाई हैं.

नहीं माने नियम तो भेजे जाएंगे संस्थागत क्वारेन्टाइन



गौरतलब है कि लौलाई गांव में इस समय लगभग 97 लोगों को होम क्वारेन्टाइन किया गया है. गांव में क्वारेन्टाइन किए गए लोगों के परिजनों और पड़ोसियों से बात कर अधिकारियों ने उनकी समस्याएं भी जानी. गांव में जांच के दौरान होम क्वारेन्टाइन किए गए लोगों द्वारा क्वारेन्टाइन के नियमों का उल्लंघन पाए जाने पर कड़ी फटकार लगाते हुए चेतावनी भी दी कि दोबारा उल्लंघन पाए जाने पर उन्हें संस्थागत क्वारेन्टाइन (Institutional quarantine) कर दिया जाएगा. गांव के ही रहमत अली और असम से आए एक अन्य प्रवासी कामगार के खिलाफ शिकायत मिलने पर कि उनके द्वारा क्वारेन्टाइन नियमों का पालन नहीं किया जा रहा है और निगरानी समिति की एक सदस्य ने बताया कि उल्लंघन से रोकने पर असम से आए एक प्रवासी द्वारा उसका फोन छीनने का भी प्रयास किया. इस पर उप-जिलाधिकारी किंशुक श्रीवास्तव और बीडीओ ने उसे सख्ती से समझाया कि अगर शिकायत फिर से मिलती है तो उन्हें संस्थागत क्वारेन्टाइन करा दिया जाएगा. एसडीएम ने समझाने और फटकार लगाने के बाद रहमत अली को मौके पर ही राशन किट भी दिलवाई. News 18 से बातचीत में एसडीएम किंशुक श्रीवास्तव ने बताया कि जिलाधिकारी के निर्देशानुसार गांवों में निगरानी समितियों के माध्यम से बाहर से आए लोगों जिन्हें होम क्वारेन्टाइन किया गया है पर नजर रखी जा रही है और उन्हें 15 दिन की राशन सामग्री प्रदेश सरकार की तरफ से वितरित की जा रही है. साथ ही लोगों को कोविड-19  महामारी (Pandemic Coronavirus) से बचाव के लिए लगातार जागरूक किया जा रहा है.



ये भी पढ़ें- यूपी के 9.5 लाख कामगारों, श्रमिकों को मिलेगा रोजगार, IIA, CII से योगी सरकार के बीच 29 मई को बड़ा करार
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading