बलरामपुरः पंचायत चुनाव में हिंसा और आगजनी, पूर्व सांसद रिजवान जहीर पर लगा NSA

पूर्व सांसद रिजवान जहीर पर बड़ी कार्रवाई.

पूर्व सांसद रिजवान जहीर पर बड़ी कार्रवाई.

UP Panchayat Chunav 2021: उत्तर प्रदेश के तुलसीपुर इलाके में पंचायत चुनाव के दौरान हुई आगजनी और हिंसा के बाद अब पूर्व सांसद रिजवान जहीर (Rizwan Zaheer) के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की गई है.

  • Share this:

बलरामपुर. उत्तर प्रदेश के बलरामपुर जेल (Balrampur) में बंद बाहुबली पूर्व सांसद के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत कार्रवाई की गई है. पंचायत चुनाव (UP Panchayat Election 2021) में हिंसा और आगजनी फैलाने के मामले में पूर्व सांसद 27 अप्रैल 2021 से जेल में बंद हैं. रिजवान जहीर (Rizwan Zaheer)  के खिलाफ लोक व शांति व्यवस्था बनाए रखने के संबंध में राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम 1980 के तहत कार्रवाई की गई है. 26 अप्रैल 2021 को त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में मतदान के बाद तुलसीपुर थाना क्षेत्र के बेलीकला गांव में दो पक्षों के बीच में विवाद हो गया था. पूर्व सांसद रिजवान जहीर की पत्नी हुमा रिजवान नवानगर जिला पंचायत क्षेत्र से बसपा के समर्थन से चुनाव लड़ रही थीं.

इसी सीट से कांग्रेसी नेता दीपांकर सिंह की पत्नी अरुणिमा सिंह भी जिला पंचायत का चुनाव लड़ रही थीं. 26 अप्रैल को बेलीकला गांव में मतदान के बाद दोनों पक्षों के बीच विवाद हुआ था. विवाद में दो वाहनों को आग लगा दी गई जबकि दो वाहनों को बुरी तरह क्षतिग्रस्त कर दिया गया था. इस मामले में पुलिस ने दोनों ही पक्ष के खिलाफ केस दर्ज कर 11 लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था.

बाहुबली नेताओं में शुमार है रिजवान जहीर का नाम

विवाद के बाद पुलिस ने इसी मामले में पूर्व सांसद रिजवान जहीर को भी गिरफ्तार किया था. रिजवान जहीर 27 अप्रैल से जेल में बंद है. रिजवान जहीर तीन बार तुलसीपुर विधानसभा क्षेत्र से विधायक रह चुके हैं जबकि 1998 और 2000 में बलरामपुर संसदीय लोकसभा क्षेत्र से समाजवादी पार्टी के सांसद रह चुके हैं. रिजवान जहीर की गिनती पूर्वांचल के बाहुबली नेताओं में की जाती है. रिजवान जहीर का पुराना आपराधिक इतिहास रहा है. रिजवान जहीर के खिलाफ 1993 में भी राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम के तहत कार्रवाई की जा चुकी है. रिजवान जहीर हरैया थाना क्षेत्र के हिस्ट्रीशीटर भी घोषित है. एसपी हेमंत कुटियाल ने बताया कि रिजवान जहीर के खिलाफ हत्या, हत्या का प्रयास, बलवा, शस्त्र अधिनियम तथा एनएसए के तहत पूर्व में की गई कार्रवाई सहित कुल 14 अभियोग पंजीकृत हैं. रिजवान जहीर के खिलाफ लोक प्रशांत व्यवस्था बनाए रखने को लेकर एनएसए के तहत कार्रवाई की गई है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज