अपना शहर चुनें

States

यूपी पंचायत चुनाव: उन्नाव जिले के 4 ग्राम पंचायतों के वोटर नहीं कर पाएंगे मतदान, ये है खास वजह

पंचायत चुनाव को लेकर अलर्ट.(सांकेतिक फोटो)
पंचायत चुनाव को लेकर अलर्ट.(सांकेतिक फोटो)

UP के उन्नाव जिले के चार ग्राम पंचायतों के मतदाता वोट नहीं डाल पाएंगे. असल में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए कराए गए परिसीमन में इन चारों पंचायतों को नगर क्षेत्र में शामिल कर लिया गया है. ऐसे में अब इन गांवों में पंचायत चुनाव नहीं कराए जाएंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 24, 2021, 8:14 AM IST
  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले की चार ग्राम पंचायतों के 20 हजार लोग अबकी पंचायत चुनाव में अपने मताधिकार का प्रयोग नहीं कर सकेंगे. उन्हें वोट देने के लिए अभी दो साल का इंतजार करना पड़ेगा. असल, त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के परिसीमन में इन गांवों को नगर पंचायत में शामिल कर लिया गया है. ऐसे में यहां के वोटर अब ग्राम पंचायत के मतदाता न होकर नगर पंचायत के मतदाता हो गए हैं. अचलगंज नगर पंचायत का गठन होने की वजह से तीन गांव इसमें शामिल हो गए हैं. ऐसे में इन गांवों में अबकी पंचायत चुनाव नहीं होगा.

ब्लॉक सिकंदरपुर कर्ण की ग्राम पंचायत मजरा पीपर खेड़ा पहले ही नगर पालिका क्षेत्र शुक्लागंज में शामिल हो गई थी, जिससे ग्राम पंचायतों की संख्या 1043 बची थी. इसके बाद त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए कराए गए परिसीमन में सिकंदरपुर कर्ण की ही ग्राम पंचायत अचलगंज , हड़हा, लोहचा भी नगरीय क्षेत्र में शामिल की गई. इन गांवों में करीब 20 हजार मतदाता थे.

ब्लॉक की तीनों ग्राम पंचायतों को काट कर नगर पंचायत अचलगंज बनाई गई. इसके अलावा सिकंदरपुर कर्ण की कटरीपीपर खेड़ा, पुरवा की टीकरकला तथा कसरौर आंशिक रूप से नगरीय क्षेत्र में शामिल की गईं. टीकरकला तथा कसरौर की आबादी पुरवा नगर पंचायत में शामिल हुई है. नगरीय क्षेत्र बढ़ने का असर क्षेत्र पंचातयों पर भी पड़ा.



नगर पंचायत के विभागीय अधिकारियों ने बताया कि ब्लॉक सिकंदरपुर कर्ण की 35 और पुरवा की एक क्षेत्र पंचायत सीट की आबादी नगरीय क्षेत्र में चली गई. इस वजह से इन सीटों का अस्तित्व खत्म हो गया. इसके अलावा सिकंदरपुर कर्ण की दो जिला पंचायत सदस्य सीटे भी कम पड़ी हैं. पहले यहां पांच सीटें थी अब दो बची है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज