पश्चिमी यूपी में नामांकन शुरू, लेकिन गायब हैं कांग्रेस प्रभारी ज्योतिरादित्य सिंधिया
Lucknow News in Hindi

पश्चिमी यूपी में नामांकन शुरू, लेकिन गायब हैं कांग्रेस प्रभारी ज्योतिरादित्य सिंधिया
फाइल फोटो

दरअसल जब ज्योतिरादित्य सिंधिया को पश्चिमी यूपी का प्रभारी बनाया गया था, उस वक्त कांग्रेसियों में जोश हाई था. लेकिन जैसे-जैसे वक्त गुजरा कांग्रेसियों का जोश ठंडा पड़ता दिख रहा है.

  • Share this:
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने देश के सबसे बड़े सूबे उत्तर प्रदेश में अपनी खोई सियासी जमीन को वापस पाने के लिए लोकसभा चुनाव में बड़ा दांव खेला. उन्होंने अपनी बहन प्रियंका गांधी को राजनीति में लांच किया और पूर्वी उत्तर प्रदेश की कमान सौंपी. इसके साथ ही मध्य प्रदेश के तेज तर्रार युवा नेता को पश्चिम यूपी का प्रभारी बनाया. दोनों की यूपी में नेत्री से कांग्रेस ने स्पष्ट संदेश दिया कि सूबे में हाशिए पर खड़ी कांग्रेस इस बार फ्रंटफुट पर खेलने को तैयार है. इसका असर भी देखने को मिला, जब 11 फ़रवरी को प्रियंका, राहुल गांधी और ज्योतिरादित्य सिंधिया ने लखनऊ में मेगा रोड शो किया.

इसके बाद प्रियंका गांधी अपने तीन दिवसीय पूर्वांचल दौरे पर हैं. वह मां गंगा के रास्ते लोगों के दिलों में उतरने की कोशिश में लगी हैं. लेकिन उनके साथी ज्योतिरादित्य सिंधिया गायब नजर आ रहे हैं. उन्हें पश्चिमी यूपी की कमान सौंपी गई है. पश्चिमी यूपी में पहले दो चरण के चुनाव होने हैं. जिसके लिए अधिसूचना भी जारी हो चुकी है और नामांकन प्रक्रिया भी शुरू हो चुकी है. बावजूद इसके सिंधिया अभी तक एक भी दौरे पर नहीं आए हैं. सिंधिया के दौरे में देरी की वजह अब कांग्रेसी कार्यकर्ताओं को अखरने भी लगी है.

दरअसल जब सिंधिया को पश्चिमी यूपी का प्रभारी बनाया गया था, उस वक्त कांग्रेसियों में जोश हाई था. लेकिन जैसे-जैसे वक्त गुजरा कांग्रेसियों का जोश ठंडा पड़ता दिख रहा है. कांग्रेस चुनाव से पहले जिस तेवर के साथ वेस्ट यूपी में दस्तक देना चाह रही थी, वह ठोस रणनीति के अभाव में कामयाब नहीं हो पा रही है.



हालांकि कांग्रेस प्रवक्ता हरिकिशन वर्मा का कहना है कि सिंधिया की देखरेख में ही सारी चुनावी रणनीति दिल्ली वाॅर रूम से चल रही हैं. वेस्ट यूपी, दिल्ली से सटा होने की वजह से वहीं पर बैठकों का दौर भी चलता हैं. सह प्रभारी लगातार वेस्ट यूपी में दौरे कर अपनी रिपोर्ट उन्हें दे रहे हैं.
एमपी के चक्कर में भूले यूपी

बता दें ज्योतिरादित्य सिंधिया अभी तक एक बार भी पश्चिमी यूपी के दौरे पर नहीं गए हैं. कुछ दिनों से वह मध्य प्रदेश के दौरे पर हैं. अगले छह दिन तक उनका कार्यक्रम मध्य प्रदेश में ही लगा है. सिंधिया के सामने उनकी खुद की संसदीय सीट गुना है. जहां से वह चार बार से लगातार सांसद हैं. इस बार वह इस सीट से पत्नी प्रियदर्शनी को चुनाव लड़ा रहे हैं. खुद वह ग्वालियर से चुनाव लड़ना चाहते हैं.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp

ये भी पढ़ें:

बीजेपी के मौजूदा सांसदों का टिकट कटने पर अखिलेश का कटाक्ष- 'कप्तान पर भी लागू हो फॉर्मूला'

लोकसभा चुनाव 2019: जानें क्या है दलित राजनीति की ABCD...
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज