UP: किसानों के लिए खुशखबरी! कल से शुरू होगी गेहूं की सरकारी खरीद, जानिए MSP

इस बार प्रदेश सरकार ने 50 लाख मीट्रिक टन गेहूं खरीद का लक्ष्य रखा है.

इस बार प्रदेश सरकार ने 50 लाख मीट्रिक टन गेहूं खरीद का लक्ष्य रखा है.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने कोरोना प्रोटोकॉल (Corona Protocol) का पालन करते हुए गेहूं खरीद की प्रक्रिया शुरू करने के निर्देश दे दिए है. सूबे के 6000 केंद्रों में खरीदी की व्यवस्था होगी. 

  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने 1 अप्रैल से गेहूं खरीद की प्रक्रिया शुरू करने के निर्देश दिए हैं. अब खाद्य और नागरिक आपूर्ति विभाग ने कोविड प्रोटोकाल का पालन करवाते हुए गेहू खरीद की प्रक्रिया शुरू करने के लिए कमर कस ली है. आपको बता दें कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तरफ से दिए गए निर्देश के मुताबिक प्रदेश के सभी क्रय केंद्रों पर किसानों के बैठने और पेयजल की व्यवस्था होगी. हालांकि गेहूं खरीदी में सबसे बड़ी चुनौती पिछले साल की तरह इस साल भी कोविड का बढ़ता संक्रमण है जिसको देखते हुए इस बार हर क्रय केंद्र पर पल्स ऑक्सीमीटर और इन्फ्रारेड थर्मामीटर की उपल्बधता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए है.

सरकार ने 1975 रुपए प्रति क्विंटल न्यूनतम समर्थन मूल्य घोषित किया है. गौरतलब हो कि योगी सरकार ने गेहूं की खरीद पर प्रति क्विंटल 50 रुपये बोनस की घोषणा की थी. अब इस बार 1975 रुपये प्रति क्विंटल की दर से सरकारी खरीद की जाएगी.

कोविड नियमों का करना होगा पालन

खरीदी केद्रों पर किसानों की भीड़ ना हो इसके लिए पारदर्शी व्यव्स्था देते हुए प्रक्रिया के तहत सबसे पहले किसानों को अपना पंजीकरण करवाना होगा. इसके बाद टोकन नंबर के हिसाब से अपनी बारी आने पर ही किसान को अपनी फसल लेकर क्रय केंद्र पर जाना होगा जिससे क्रय केंद्र पर सीमित भीड़ ही मौजूद रहेगी. उत्तर प्रदेश के कृषि मंत्री सूर् प्रताप शाही ने जानकारी देते हुए बताया है कि सरकार की तरफ से सभी संस्थाओं से बात कर ली गयी है. कोविड नियमों का पालन करते हुए सारी व्यवस्थाएं की गई है. हमारा ये प्रयास है कि हर किसानों को अपने खेत के 10 किलोमीटर के दायरे में क्रय केंद्र उपलब्ध हो सके ताकि किसानों को अपनी फसल बेचने में कोई दिक्कत न हो.
ये भी पढ़ें: Bareilly News: धोपेश्वर नाथ मंदिर के पुजारी का मिला खून से सना शव, हत्या की आशंका

खरीदी का लक्ष्य तय

साल 2020 -21 में कोरोना के चलते गेहूं खरीदी की प्रक्रिया 15 अप्रैल से शुरू हो पाई थी. लेकिन धीरे धीरे खरीद की रफ्तार बढ़ी और सरकारी आकड़ों के मुताबिक पिछले वर्ष उत्तर प्रदेश सरकार की तरफ से 37 लाख मीट्रिक टन की गेहूं खरीदी की गई जो कि पिछले सालों के मुकाबले कही ज्यादा है. 1 अप्रैल से से शुरू हो रही गेहू खरीद के लिए प्रदेश के 75 जिलों में 6000 क्रय केंद्र बनाये गये है जिसमें सबसे पहले बुंदेलखण्ड, आगरा मंडल और बाकि जिलों में खरीद शुरू होगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज