Home /News /uttar-pradesh /

UP Elections 2022: नरेश टिकैत को क्‍यों कहना पड़ा- हम थोड़ा फालतू बोल गए...वो हमें भी कर देंगे निष्‍कासित

UP Elections 2022: नरेश टिकैत को क्‍यों कहना पड़ा- हम थोड़ा फालतू बोल गए...वो हमें भी कर देंगे निष्‍कासित

Naresh Tikait News: नरेश टिकैत ने उत्‍तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में सपा-रालोद गठबंधन का समर्थन किया था. बाद में वह अपने बयान से पलट गए थे. (न्‍यूज 18 हिन्‍दी)

Naresh Tikait News: नरेश टिकैत ने उत्‍तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में सपा-रालोद गठबंधन का समर्थन किया था. बाद में वह अपने बयान से पलट गए थे. (न्‍यूज 18 हिन्‍दी)

उत्‍तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022: भारतीय किसान यूनियन के प्रमुख नरेश टिकैत ने समाजवादी पार्टी और राष्‍ट्रीय लोकदल के प्रत्‍याशियों का समर्थन करने की बात कही थी. उनकी इस घोषणा का अपनों ने ही विरोध करना शुरू कर दिया. इसके बाद बीकेयू नेता नरेश टिकैत को अपना बयान वापस लेना पड़ा था.

अधिक पढ़ें ...

लखनऊ. उत्‍तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 में किसानों को लेकर भी राजनीति हो रही है. इस वजह से किसान संगठन भी चर्चा में हैं. कुछ दिनों पहले शिवसेना के वरिष्‍ठ नेता और सांसद संजय राउत ने भारतीय किसान यूनियन (BKU) के प्रवक्‍ता राकेश टिकैत से मुलाकात की थी. उसके बाद विधानसभा चुनावों में किसान यूनियन के प्रमुख नरेश टिकैत ने समाजवादी पार्टी-राष्‍ट्रीय लोकदल (SP-RLD) गठबंधन को सपोर्ट करने का बयान दिया था. नरेश टिकैत को बाद में अपने बयान से पीछे हटना पड़ा. उन्‍हें कहना पड़ा कि उन्‍होंने थोड़ा सा फालतू बोल दिया. ऐसे में अब सवाल उठता है कि नरेश टिकैत को आखिरकार अपने बयान से हटते हुए ऐसा क्‍यों कहना पड़ा?

नरेश टिकैत द्वरा SP-RLD गठबंधन को सपोर्ट करने की बात जंगल में आग की तरह फैल गई और इस पर प्रतिक्रियाएं भी आने लगीं. ‘इंडियन एक्‍सप्रेस’ ने सूत्रों के हवाले से खबर दी कि नरेश टिकैत के बयान पर उनके छोटे भाई और भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्‍ता राकेश टिकैत ने किसी भी रजनीतिक दल या गठजोड़ को समर्थन करने का विरोध किया. इससे पहले संयुक्‍त किसान मोर्चा (SKM) ने पंजाब चुनाव मैदान में उतरे लोगों से खुद को अलग कर लिया था. अंदर से ही आपत्ति का सुर उठने के बाद नरेश टिकैत को अपने बयान से पीछे हटना पड़ा. नरेश टिकैत ने कहा, ‘हम थोड़ा सा फालतू बोल गए. हमें ऐसा नहीं कहना चाहिए था. हमलोग संयुक्‍त किसान मोर्चा के निर्णय के खिलाफ नहीं जा सकते हैं, नहीं तो वे हमें निष्‍कासित कर देंगे.’

Bhartiya Kisan Union (BKU) and UP Politics: पंजाब में जन्मा BKU, कुछ यूं बन गया पश्चिमी यूपी की राजनीति की धुरी

 नरेश टिकैत का यूटर्न
उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों में सपा और रालोद गठबंधन प्रत्याशियों को खुला समर्थन देने के बाद किसान नेता नरेश टिकैत ने सोमवार को यूटर्न ले लिया था. किसान नेता नरेश टिकैत अपने बयान से पलटते हुए कहा कि हम चुनाव में किसी का भी समर्थन नहीं कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि पहले से ही हर पार्टी का आदमी आता रहता है. गठबंधन प्रत्याशी राजपाल बालियान भी आते थे. वह किसान भवन में आए थे. हम तो सभी को अपना आशीर्वाद देते हैं. उसमें कोई समर्थन वाली बात नहीं है. टिकैत ने कहा कि इसलिए हमारा किसी को कोई समर्थन नहीं है. हमारा तो सभी को आशीर्वाद है.

‘भाजपा वाले हमारे दुश्‍मन नहीं’
इससे पहले 2014 के चुनाव में भाजपा को समर्थन देने को लेकर नरेश टिकैत ने कहा कि उस समय़ तो उनकी लहर चल रही थी, लेकिन अब दूसरा मामला है. 13 महीने तक हमारा आंदोलन चला है और अब संयुक्त मोर्चा सर्वोपरि है. यदि हम अलग जाएंगे तो वे हमें भी निकाल देंगे. नरेश टिकैत ने कहा कि यदि भाजपा वाले आते हैं तो उनका भी स्वागत करेंगे. चाय-पानी की व्यवस्था करेंगे. भाजपा के कैंडिडेट हमारे दुश्मन थोड़ी हैं. पहले भी आते ही रहे हैं.

Tags: Naresh Tikait, Uttar Pradesh Assembly Elections

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर