लखनऊ: मुस्लिम महिला के लिया अपने पति से जबरदस्ती तलाक...

News18 Uttar Pradesh
Updated: September 8, 2019, 3:21 PM IST
लखनऊ: मुस्लिम महिला के लिया अपने पति से जबरदस्ती तलाक...
पहली बार किसी मुस्लिम महिला के लिया अपने पति से जबरदस्ती तलाक...

इस महिला का साथ देने वाली सामाजिक कार्यकर्ता नाइश हसन कहती हैं कि वो रेशमा सिद्दीकी के इस कदम का समर्थन करती. उन्होंने कहा कि कुरान की सूरत सूरह अल बकरह आयत नंबर- 229 के मुताबिक 'खुला' यानी (तलाक) दे सकती हैं.

  • Share this:
लखनऊ. राजधानी लखनऊ में रविवार को तलाक (Talaq) का अनोखा मामला सामने आया है. जहां आमतौर पर शौहर के द्वारा अपनी पत्नी को जबरदस्ती तलाक देने के तो खूब मामले सामने आ चुके हैं. लेकिन पहली बार किसी महिला द्वारा जबरदस्ती अपने पति से तलाक लेने का मामला राजधानी में चर्चा बन रहा है. दरअसल एक मुस्लिम महिला रेशमा सिद्दीकी ने अपने 12 साल पुराने शादी के रिश्ते को ये कहते हुए तोड़ दिया कि उसका पति उसके साथ मारपीट करता था. और इन हालातों में उसका जिन्दगी जीना मुश्किल हो चला था.

 4 फरवरी 2006 में हुई थी शादी

मामला कोर्ट तक भी पहुंचा लेकिन अब साथ रह पाना मुश्किल हो चला था. इस लिए उसने अपने पति से अलग होने का फैसला कर लिया. पीड़ित महिला के मुताबिक इसकी शादी मुस्लिम रीति रिवाज से 4 फरवरी 2006 में शारिक सिद्दीकी के साथ हुई थी. और इनकी एक 10 साल की बेटी भी हैं. वहीं पीड़िता आगे कहती हैं कि उसका पति उसके साथ लगातार अत्याचार कर रहा था. वहीं बेटी पैदा होने की वजह से इस रिश्ते में कई परेशानियां आने लगी. जिसके बाद पति से अलग होना ही सबसे अच्छा विकल्प नजर आया तो मैंने अपने पति से तलाक ले लिया.

धर्मगुरू मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली
धर्मगुरू मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली


जागरूकता की जरुरत

वहीं, इस महिला का साथ देने वाली सामाजिक कार्यकर्ता नाइश हसन कहती हैं कि वो रेशमा सिद्दीकी के इस कदम का समर्थन करती. उन्होंने कहा कि कुरान की सूरत सूरह अल बकरह आयत नंबर- 229 के मुताबिक 'खुला' यानी (तलाक) दे सकती हैं. नाइश ने कहा कि इस तरह के लिए जागरूकता की अभी जरुरत है क्योंकि कि महिलाएं अपने इस अधिकार का प्रयोग कर स्वतंत्र जीवन यापन कर सकती हैं.

शरीयत के जानकारों से ले सलह
Loading...

इस मामले में धर्मगुरू मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली भी कहतें हैं कि बीवी को भी अपने पती से तलाक लेने का उतना ही अधिकार है जितना पति का. लेकिन उन्होंने ये भी कहा कि ऐसे मामले मीडिया के बजाय शरीयत के जानकारों के पास आने चाहिए. जिससे ऐसे मामलों को आसानी से हल कराया जा सके.

(रिपोर्ट: मोहम्मद शबाब)

ये भी पढ़ें:

चित्रकूट: डाकू बबली कोल ने किया किसान का अपहरण, मांगी 50 लाख की फिरौती

मथुरा के इस ATM से होने लगी नोटों की बारिश, ये रही तकनीकी वजह

PM मोदी 9 सितंबर को ग्रेटर नोएडा के एक्सपो मार्ट आएंगे, ये रहा शेड्यूल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 8, 2019, 2:34 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...