राज्यसभा चुनाव: क्या BJP 9वां प्रत्याशी भी उतारेगी मैदान में, अभी भी सस्पेंस बरकरार, पढ़ें पूरी खबर

9 नवंबर को सुबह नौ बजे से शाम चार बजे तक मतदान होगा.  (फाइल फोटो- PTI)
9 नवंबर को सुबह नौ बजे से शाम चार बजे तक मतदान होगा. (फाइल फोटो- PTI)

निर्वाचन आयोग (Election Commission) ने राज्यसभा सीटों के लिए चुनाव की घोषणा 13 अक्टूबर को की थी. इन सीटों के लिए चुनाव की अधिसूचना 20 अक्टूबर को जारी हो गई है.

  • Share this:
लखनऊ. बीजेपी (BJP) ने उत्तर प्रदेश से राज्यसभा चुनाव (Rajya Sabha elections) के लिए अपने आठ प्रत्याशियों की सूची जारी करने के बाद भी सस्पेंस बरकरार रखा है. जारी किए गए आठों प्रत्याशियों के नाम के बाद भी ये कयास जबरदस्त रुप से लगाए जा रहे हैं कि 9वां प्रत्याशी (9th candidate) कौन होगा. क्योंकि सूची की प्रकृति और विधानसभा में विधायकों की संख्या को देखते हुए 9वें प्रत्याशी की संभावना बची हुई है. ऐसे में सवाल उठता है कि क्या बीजेपी अपने मतों को यूं ही जाने देगी. दरअसल, बसपा ने भी अपने प्रत्याशी खड़े किए हैं. बसपा पर पहले से ही भाजपा के करीबी होने का आरोप लगता रहा है. ऐसे में बीजेपी 9वां प्रत्याशी भी ला सकती है भले ही वो सहयोगी दल(अपना दल एस) का ही क्यों न हो. अगर बीजेपी प्रत्याशी नहीं खड़ा करती है तो मिशन 2022 में बसपा (BSP) के लिए एक संकेत माना जा सकता है, क्योंकि बीजेपी या उसके सहयोगी दल का 9वां प्रत्याशी अगर मैदान में नहीं होगा तो चुनाव नहीं होगा और बसपा- सपा सहित सभी बीजेपी के प्रत्याशी निर्विरोध राज्यसभा पहुंच जाएंगे.

वैसे घोषित प्रत्याशियों की सूची में जो आठ नाम हैं, उसमें पार्टी ने जातीय समीकरण का पूरी तरह ख्याल रखा है. सूची में अलग- अलग जातियों से आनेवाली दो महिलाओं के नाम हैं. जौनपुर की सीमा द्विवेदी ब्राम्हण हैं तो औरैया की गीता शाक्य पिछड़े वर्ग से आती हैं. ब्राह्मण समुदाय से हरिद्वार दूबे और सीमा द्विवेदी हैं. वहीं अरुण सिंह और नीरज शेखर क्षत्रिय समुदाय से आते हैं. बी.एल.वर्मा और गीता शाक्य पिछड़े वर्ग से हैं. इसी तरह पूर्व डीजीपी बृजलाल एससी हैं और हरदीप सिंह पुरी सिक्ख हैं.

राज्यसभा सीटों के लिए चुनाव की घोषणा 13 अक्टूबर को की थी
वहीं, निर्वाचन आयोग ने राज्यसभा सीटों के लिए चुनाव की घोषणा 13 अक्टूबर को की थी. इन सीटों के लिए चुनाव की अधिसूचना 20 अक्टूबर को जारी हो गई है. घोषित कार्यक्रम के अनुसार नामांकन 27 अक्टूबर नामांकन की अंतिम तिथि है. 28 अक्टूबर को नामांकन पत्रों की जांच की होगी. दो नवंबर तक नाम वापस लिए जा सकेंगे. 9 नवंबर को सुबह नौ बजे से शाम चार बजे तक मतदान होगा. उसी दिन शाम पांच बजे से मतगणना होगी और परिणाम घोषित कर दिए जाएंगे. उत्तर प्रदेश में राज्यसभा की दस सीटें 25 नवंबर को खाली हो रही हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज