2019 में बीजेपी को मिलेगा यादव समाज का समर्थन: मौर्य

बीजेपी पिछड़ा वोट बैंक को इकट्ठा करने के लिए अलग-अलग जातियों के साथ बैठक कर रही है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: September 15, 2018, 4:37 PM IST
2019 में बीजेपी को मिलेगा यादव समाज का समर्थन: मौर्य
डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य. Photo: News18
News18 Uttar Pradesh
Updated: September 15, 2018, 4:37 PM IST
2019 के लोकसभा के लिए बीजेपी ने कमर कस ली है. बीजेपी पिछड़ा वोट बैंक को इकट्ठा करने के लिए अलग-अलग जातियों के साथ बैठक कर रही है. इस बीच यूपी के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने यादव नेताओं और कार्यकर्ताओं के साथ बैठक की. लखनऊ के गोमती नगर में आयोजित कार्यकर्ता सम्मेलन में पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा कि यदुवंशी (यादव समाज) बीजेपी के साथ है.

केशव मौर्य ने कहा कि सूबे का 54 फीसदी पिछड़ा कृष्णवंशी है और ऐसे में बीजेपी पीएम मोदी के नेतृत्व में इन्हें अपने साथ लाने में कामयाब रहेगी. उन्होंने कहा कि हमारे विधायक व नेता बड़ी संख्या में पिछड़े वर्ग के हैं. पिछड़े वर्ग को संवैधानिक दर्जा देकर बीजेपी सरकार ने इस वर्ग का सम्मान किया है. इसके साथ ही उन्होंने सपा अध्यक्ष और पूर्व सीएम अखिलेश यादव पर भी निशाना साधा. मौर्य ने कहा कि जो चाचा का नहीं हो सका वो बुआ का क्या होगा.

केशव मौर्य ने माना कि मिशन 2014 के पीछे भी यादव थे और मिशन 2017 के पूरा होने में भी यदुवंशियों का योगदान था. उन्हें पूरा भरोसा है कि 2019 में बीजेपी को यादवों का पूरा समर्थन मिलेगा. बता दें कि बीजेपी को भले ही पिछले लोकसभा और विधानसभा चुनाव में पिछड़ों का अपार समर्थन मिला हो, लेकिन उपचुनाव में मिली हार के बाद बीजेपी फूंकफूंक कर कदम रख रही है.

यही कारण है कि यूपी के डिप्टी सीएम हर एक जाति के साथ अलग-अलग सम्मेलन कर रहे हैं. यादव सम्मेलन भी इसी रणनीति का हिस्सा है, जिसमें बीजेपी की नजर 9 फीसदी यादव वोट बैंक पर है, जो समाजवादी पार्टी का वोटर कहलाते हैं.

रिपोर्ट- रंजना

ये भी पढ़ें: BJP का सूपड़ा साफ करने के लिए 'महागठबंधन' को समर्थन देगी भीम आर्मी

ये भी पढ़ें: योगी सरकार के परिवहन मंत्री ने झाड़ू लगाकर की साफ-सफाई
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर