अपना शहर चुनें

States

UP: 2020 के सबसे तेज सीएम बने योगी, उद्धव, ममता, गहलोत और शिवराज को दी मात

2020 के सबसे तेज सीएम बने योगी (File photo)
2020 के सबसे तेज सीएम बने योगी (File photo)

योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) 1998 में जब वह पहली बार सांसद चुने गये तब वह सबसे कम उम्र के सांसद थे. 42 की उम्र में एक ही क्षेत्र से लगातार 5 बार सांसद बनने का रिकॉर्ड.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 2, 2021, 8:15 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. साल दर साल कीर्तिमान बनाना योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) का शगल है.  एक निजी न्यूज चैनल की ओर से किए गए सर्वे ने फिर इस बात पर मुहर लगा दी कि उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी का कोई जवाब नहीं. 2020 में देश के सबसे तेज मुख्यमंत्रियों के लिए हुए सर्वे में योगी नंबर वन बनकर उभरे. सर्वे में वह महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, बंगाल की ममता बनर्जी, राजस्थान के अशोक गहलोत और मध्यप्रदेश के शिवराज सिंह चौहान पर भारी पड़े. सर्वे में नम्बर दो पर रहे उद्धव ठाकरे और योगी को मिले वोटों में भी खासा फर्क रहा.

योगी सबसे लोकप्रिय मुख्यमंत्री 
ऐसा पहली बार नहीं हुआ. कुछ माह पहले फेम इंडिया की रिपोर्ट में सबसे प्रभावशाली भारतीयों की सूची में योगी सबसे लोकप्रिय मुख्यमंत्री चुने गये हैं. अपनी ईमानदार छवि, कठोर निर्णय लेने की क्षमता तथा बुलंद इरादे की वजह से वह देश के सात राज्यों के मुख्यमंत्रियों को पीछे छोड़ते हुए नंबर वन बने थे. समग्रता में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ही नंबर वन रहे. मसलन लोकप्रियता में मोदीजी के बाद योगी ही हैं. इस सूची में देश के कुल आठ मुख्यमंत्री शामिल हैं.

टॉप 10 में छठे नंबर पर केरल के मुख्यमंत्री पी विजयन और दसवें नंबर पर उड़ीसा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक रहे. झारखंड के हेमंत सोरेन बारहवें, दिल्ली के अरविंद केजरीवाल 13हवें, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार 17हवें, गोवा के प्रमोद सावंत 30वें और पंजाब के अमरिंदर सिंह 31सवें नंबर पर रहे.
पहली बार में ही हासिल किया मुकाम


खास बात यह है कि योगी पहली बार मुख्यमंत्री बने हैं. ये उपलब्धियां अपने पहले ही कार्यकाल में मिलना खुद में खास है. जबकि नीतीश कुमार, नवीन पटनायक, हेमंत सोरेन और अमरिंदर सिंह कई बार मुख्यमंत्री रह चुके हैं.

योगी के नाम कुछ और रिकार्ड
योगी आदित्यनाथ 1998 में जब वह पहली बार सांसद चुने गये तब वह सबसे कम उम्र के सांसद थे. 42 की उम्र में एक ही क्षेत्र से लगातार 5 बार सांसद बनने का रिकॉर्ड. मुख्यमंत्री बनने के पहले सिर्फ 42 वर्ष की आयु में एक ही सीट (गोरखपुर) से लगातार पांच बार चुने जाने वाले देश के इकलौते सांसद. मुख्यमंत्री बनने के बाद से कई क्षेत्रों में रिकॉर्ड बना है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज