लाइव टीवी

COVID-19: योगी सरकार ने 20 लाख से ज्यादा मजदूरों को भेजी 1 हजार रुपये की पहली किस्त
Lucknow News in Hindi

News18Hindi
Updated: March 24, 2020, 2:46 PM IST
COVID-19: योगी सरकार ने 20 लाख से ज्यादा मजदूरों को भेजी 1 हजार रुपये की पहली किस्त
नि:शुल्क राशन भी उपलब्ध करा रही है उत्‍तर प्रदेश सरकार.

मुख्यमंत्री योगी आदित्‍यना (CM Yogi Aditya Nath) ने कहा कि उनकी सरकार रेहड़ी, ठेला, खोमचा, रिक्शा, ई-रिक्शा चालक और पल्लेदारों को भी 1 हजार रुपये का भरण-पोषण भत्ता दे रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 24, 2020, 2:46 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. कोराना वायरस (COVID-19) के बढ़ते संकट को देखते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने पूरे प्रदेश में लॉकडाउन के आदेश दे दिए हैं. इसी कड़ी में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार ने मंगलवार को प्रदेश के 20 लाख से अधिक दिहाड़ी मजदूरों को 1 हजार रुपये की पहली किस्त डीबीटी के माध्यम से उनके अकाउंट में भेज दी. इस दौरान उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के खिलाफ सबको सहभागी बनाने की दृष्टि से प्रदेश सरकार ने दैनिक श्रमिकों के लिए भरण-पोषण की व्यवस्था की है.

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि हमारी सरकार रेहड़ी, ठेला, खोमचा, रिक्शा, ई-रिक्शा चालक और पल्लेदारों को भी 1 हजार रुपये का भरण-पोषण भत्ता दे रही है. इसके लिए नगर विकास विभाग को अधिकृत किया गया है.

श्रमिक भरण-पोषण योजना की शुरुआत
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 5 कालीदास मार्ग स्थित अपने सरकारी आवास से श्रमिक भरण-पोषण योजना की शुरुआत की. इस दौरान उन्होंने चार श्रमिकों को प्रतिकात्मक तौर पर 1 हजार रुपये का चेक भी वितरित किया. उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते हुए सोशल डिस्टेंस बनाने और होम क्वारंटाइन के कारण लोगों का रोजगार प्रभावित हुआ है. जिसकी वजह से यह व्यवस्था की जा रही है.



इन्‍हें दिया जा रहा मुफ्त में राशन
मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि अंत्योदय राशन कार्ड धारक, निराश्रित वृद्धा अवस्था पेंशन, दिव्यांगजन पेंशन, निर्माण श्रमिक और प्रतिदिन कमाने वाले श्रमिकों को हम नि:शुल्क राशन उपलब्ध करा रहे हैं. इसके तहत 20 किलो गेंहू और 15 किलो चावल की व्यवस्था की गई है. उन्होंने कहा कि ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में जो लोग भी इससे वंचित रह जाएंगे और किसी भी योजना से आच्छादित नहीं है, उन्हें भी 1 हजार रुपये की सहायता राशि उपलब्ध कराई जा रही है. इसके लिए सभी जिलाधिकारियों को निर्देशित कर दिया गया है और सभी जनपदों को पर्याप्त धनराशि भेजी जा चुकी है.

ये भी पढ़ें:

कुंडा के बाहुबली विधायक 'राजा भैया' की टीम ने COVID-19 से लड़ाई के लिए दिया 75 लाख रुपया

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 24, 2020, 2:31 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर