लाइव टीवी

हाई-टेक होगी योगी आदित्यनाथ सरकार- विधायकों को मिलेगा आई-पैड, पेपरलेस होगी कैबिनेट बैठक
Lucknow News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: February 12, 2020, 11:17 PM IST
हाई-टेक होगी योगी आदित्यनाथ सरकार- विधायकों को मिलेगा आई-पैड, पेपरलेस होगी कैबिनेट बैठक
योगी आदित्यनाथ सरकार ने बुधवार को सभी विधायकों को आई-पैड देने का फैसला कर लिया है. (फाइल फोटो)

प्रदेश की योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) सरकार ने बुधवार को सभी विधायकों को आई-पैड (i-Pad) देने का फैसला कर लिया. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर सभी विधायकों को तकनीक से लैस करने के लिए आई-पैड दिया जाएगा. मुख्यमंत्री की योजना अगली कैबिनेट बैठक (Cabinet Meeting) पेपरलेस करने की है.

  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश सरकार (Government of Uttar Pradesh) जल्द से जल्द हाई-टेक होने जा रही है. प्रदेश की योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) सरकार ने बुधवार को सभी विधायकों को आई-पैड (i-Pad) देने का फैसला कर लिया है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर सभी विधायकों को तकनीक से लैस करने के लिए आई-पैड दिया जाएगा.

इसके साथ ही मुख्यमंत्री की योजना अगली कैबिनेट बैठक (Cabinet Meeting) पेपरलेस करने की है. आने वाले मंगलवार को होने वाली कैबिनेट बैठक में तकनीक का इस्तेमाल किया जाएगा और जिन कामों में कम्प्यूटर और आई-पैड का उपयोग संभव होगा, वे सभी काम कंप्यूटर और आई-पैड के जरिए ही किए जाएंगे.

एंटी करप्शन विभाग ने 245 मामलों में किए सफल ट्रैप
योगी सरकार के 3 साल पूरे होने वाले हैं और ऐसे में योगी सरकार ने भ्रष्टाचार निवारण के लिए एंटी करप्शन टीम को तकनीकी तौर पर और मजबूत किया है. इन 3 सालों में आकड़ों पर गौर करें तो एंटी करप्शन विभाग ने 245 सफल ट्रैप किए हैं और कुल 41 लाख 67000 रुपए बरामद किए हैं.

खुद सीएम योगी हमेशा अधिकारियों को जीरो टॉलरेंस की नीति पर काम करने की नसीहत देते रहते हैं और यही वजह है कि करप्शन करने वाले अधिकारियों पर सीधे सीएम योगी की गाज भी गिरती है. वैसे भ्रष्टाचार को लेकर सरकार पर कई सवाल खड़े होते हैं. विपक्षी पार्टियां भी भ्रष्टाचार के मामले को लेकर समय-समय पर सरकार को घेरती हुई नजर आती है लेकिन एंटी करप्शन की तरफ से की गई कार्रवाई और उसकी आंकड़े सरकार को राहत देने वाले नजर आ रहे हैं.

भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई के तीन साल
साल 2017 में एंटी करप्शन विभाग की ओर से 53 सफल ट्रैप किए गए थे. जिनमें से 7 पुलिस विभाग के और 46 अन्य विभागों के थे. जिनमें एंटी करप्शन विभाग ने 6 लाख 32000 रुपये बरामद किए. साल 2018 में एंटी करप्शन विभाग ने 80 सफल ट्रैप किए. इनमें भी 7 पुलिस विभाग और 73 अन्य विभागों में करप्शन करने वाले अधिकारियों पर कार्रवाई हुई. इसमें 15 लाख 44 हजार रुपए बरामद किए गए थे.साल 2019 में एंटी करप्शन भाग में 100 सफल रहे थे, जिनमें से 14 पुलिस विभाग और 86 अन्य विभागों पर कार्रवाई की थी. इसमें 17 लाख 22 हजार रुपए बरामद हुए थे.फरवरी 2020 तक 12 सफल ट्रैप किए गए. जिनमें 1 पुलिस विभाग और 11 अन्य विभाग शामिल हैं.

रिपोर्ट - अजीत सिंह 

ये भी पढे़ं - 

नहीं बदलेगी अरविंद केजरीवाल कैबिनेट, सभी पुराने मंत्री ही होंगे रिपीट

गार्गी कॉलेज यौन उत्पीड़न मामला: 3 फुटेज पर टिकी दिल्ली पुलिस की जांच

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 12, 2020, 10:43 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर