UP में 15 अप्रैल से शुरू होगी गेंहू की खरीद, किसान ऑनलाइन पंजीकरण कराकर बेच सकते हैं फसल
Lucknow News in Hindi

UP में 15 अप्रैल से शुरू होगी गेंहू की खरीद, किसान ऑनलाइन पंजीकरण कराकर बेच सकते हैं फसल
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने टीम 11 के साथ की बैठक

सीएम ने एक ओर जहां किसानों को हार्वेस्टिंग और अपनी फसल बेचने के लिए उपयुक्त प्लेटफार्म उपलब्ध कराने का निर्देश दिया, तो वहीं फसल की कीमत किसी भी सूरत में नयूनतम खरीद मूल्य से कम न हो.इसका भी ध्यान रखने को कहा है.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
लखनऊ. लॉकडाउन (Lockdown) के बीच सीएम योगी आदित्यनाथ (CM yogi Adityanath) ने 15 अप्रैल से गेंहू खरीद (Wheat Procurement) की शुरुआत करने जा रही है. सरकार ने इस वर्ष 55 लाख मीट्रिक टन गेंहूं खरीद का लक्ष्य रखा है. यह फैसला मुख्यमंत्री ने रविवार को अपनी टीम-11 के साथ हुई एक बैठक में लिया. सीएम ने एक ओर जहां किसानों को हार्वेस्टिंग और अपनी फसल बेचने के लिए उपयुक्त प्लेटफार्म उपलब्ध कराने का निर्देश दिया, तो वहीं फसल की कीमत किसी भी सूरत में नयूनतम खरीद मूल्य से कम न हो.इसका भी ध्यान रखने को कहा है.

मुख्यमंत्री ने इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन हो इसके लिए फसल खरीदने वाले कृषक उत्पाद संगठनों को भी प्रोत्साहित किये जाने का निर्देश दिया और 15 अप्रैल से यूपी में गेंहू खरीद का शुभारंभ भी कर दिये जाने का ऐलान कर दिया.

5500 खरीद केंद्रों के जरिये होगी खरीद



न्यूज 18 से बात करते हुए कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने बताया कि ‘देशव्यापी लॉकडाउन में किसानों को खेती-किसानी से जुड़ी कोई असुविधा न हो, इसके लिये सरकार निरन्तर ध्यान दे रही है. गेहूं की कटाई प्रदेश में तेजी से हो रही हैं. जिसे देखते हुए सरकार ने गेहूं की खरीद की तैयारियां पूरी कर ली हैं. किसानों को गेहूं खरीद को लेकर बिल्कुल भी चिंता करने की आवश्यकता नहीं है. 15 अप्रैल से 5500 खरीद केंद्रों के जरिये न्यूनतम समर्थन मूल्य 1925 रुपए प्रति कुंतल पर गेहूं खरीद की जायेगी. प्रदेश में गेहूं खरीद का लक्ष्य 55 लाख मीट्रिक टन रखा गया है. क्रय केन्द्रों पर भीड़ को रोकने के लिये आँनलाईन टोकन की व्यवस्था की गयी है. गेहूं बिक्री के इच्छुक किसानों को पहले केन्द्र प्रभारी को अपना कृषक पंजीकरण नंबर बताना होगा. और फिर केन्द्र प्रभारी द्वारा एक सप्ताह के अंदर आँनलाईन जनरेट टोकन सम्बन्धित किसान के मोबाइल नंबर पर SMS के जरिये भेज दिया जायेगा.’



सभी को करना होगा सोशल डिस्टेसिंग का अनुपालन 

प्रमुख सचिव कृषि देवेश चतुर्वेदी के मुताबिक ‘क्रय केन्द्र प्रभारियों का जनपदवार विवरण खाद्य विभाग के पोर्टल पर ‘खरीद सारांश’ के लिंक पर ‘गेहूं क्रय केन्द्रों का विवरण’ पर उपलब्ध है. ऐसे में जो किसान पहले से पंजीकृत नही है. उनका किसान क्रय केन्द्र प्रभारी के द्वारा मौके पर ही आधार कार्ड, फोटो पहचान पत्र, बैंक पासबुक तथा खतौनी की प्रति के आधार पर पंजीकरण कर दिया जायेगा. इस दौरान कोरोना के खतरे को देखते हुए सभी क्रय केन्द्रों पर कार्य करने वाले हर एक को न सिर्फ सोशल डिस्टेसिंग का अनुपालन करते हुये चेहरे को मास्क से ढकने का निर्देश दिया गया है. बल्कि क्रय केन्द्रों पर हैण्ड सेनेटाइजर, साबुन-पानी इत्यादि की व्यवस्था भी की गई है.

ये भी पढ़ें:

COVID-19: पॉजिटिव मिला शख्स, सील किए गए UP के बदायूं जिले के 14 गांव

COVID-19: UP में 15 अप्रैल से शुरू होगी फूड डिलीवरी और ऑनलाइन रजिस्ट्री
First published: April 13, 2020, 11:26 AM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading