• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • UP Election Politics: किसानों पर मेहरबान योगी सरकार, पराली जलाने के 900 केस लिए वापस

UP Election Politics: किसानों पर मेहरबान योगी सरकार, पराली जलाने के 900 केस लिए वापस

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किसानों को दी राहत

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किसानों को दी राहत

Cases Against Farmers Withdrawn: अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी की तरफ से जारी बयान में कहा गया कि किसान प्रदेश की अर्थव्यवस्था और विकास में अहम किरदार निभाते हैं. इसलिए सरकार ने किसानों के ऊपर से पराली जलाने के 868 केस वापस ले लिए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    लखनऊ. आगामी विधानसभा चुनाव और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में किसान आंदोलन के असर को देखते हुए योगी सरकार ने 900 किसानों को एक राहत राहत दी है. सरकार ने पराली जलाने को लेकर अलग-अलग थानों में दर्ज करीब 900 मुकदमों को वापस ले लिया है. अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने इस बाबत आदेश जारी कर दिए हैं. पिछले दिनों मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यूपी में किसानों पर दर्ज केस वापस लेने की घोषणा की थी.

    यूपी में पराली जलाने के आरोप में किसानों के ऊपर 868 केस दर्ज थे. अब सरकार ने मुकदमे वापस ले लिए हैं. अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी की तरफ से जारी बयान में कहा गया कि किसान प्रदेश की अर्थव्यवस्था और विकास में अहम किरदार निभाते हैं. इसलिए सरकार ने किसानों के ऊपर से पराली जलाने के 868 केस वापस ले लिए हैं. अवस्थी ने कहा है कि कोरोना महामारी के दौरान किसानों के हित देखते हुए अलग-अलग जनपदों में दर्ज पराली जलाने के मुकदमों को वापस लेने का आदेश दिया है. प्रदेश में 868 किसानों पर आईपीसी और 1860 की धारा 188, 278, 290 और 291 दर्ज किए गए थे.

    CM योगी ने दिया था भरोसा
    पिछले दिनों मुख्यमंत्री ने कहा था कि पराली जलाने के दर्ज मुकदमों को वापस लिया जाएगा. साथ ही अगर कोई जुर्माना लगा है तो उसकी भी माफ़ी होगी। इतना ही नहीं मुख्यमंत्री ने गन्ना के समर्थन मूल्य बढ़ाने की बात पर भी विचार करने का भरोसा दिलाया था.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज