टिड्डी दल के प्रकोप पर योगी सरकार का बड़ा फैसला, राज्य स्तरीय आपदा राहत दल का गठन
Allahabad News in Hindi

टिड्डी दल के प्रकोप पर योगी सरकार का बड़ा फैसला, राज्य स्तरीय आपदा राहत दल का गठन
उत्तर प्रदेश में टिड्डी दल के हमले पर आपदा राहत दल का गठन किया गया है

यूपी सरकार की तरफ से टिड्डी दल के नियंत्रण को लेकर कृषि निदेशालय स्तर पर एक आपदा राहत दल (Disaster Relief Team) का गठन किया गया है. इस आपदा राहत दल में उप कृषि निदेशक अध्यक्ष होंगे, वहीं दो सहायक निदेशक सदस्य और सचिव होंगे. ये आपदा राहत टीम पूरे प्रदेश में पर्यवेक्षण करेगी.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
लखनऊ. पाकिस्तान (Pakistan) से आए टिड्डी दल (Locusts) का प्रकोप उत्तर प्रदेश के भी सीमावर्ती जिलों में देखा जा रहा है. मामले में गंभीरता दिखाते हुए उत्तर प्रदेश सरकार (UP Government) ने बड़ा कदम उठाया है. सरकार की तरफ से टिड्डी दल के नियंत्रण को लेकर कृषि निदेशालय स्तर पर एक आपदा राहत दल (Disaster Relief Team) का गठन किया गया है. इस आपदा राहत दल में उप कृषि निदेशक अध्यक्ष होंगे, वहीं दो सहायक निदेशक सदस्य और सचिव होंगे. ये आपदा राहत टीम पूरे प्रदेश में पर्यवेक्षण करेगी.

जिला स्तर पर भी गठित होगा आपदा राहत दल

प्रमुख सचिव कृषि देवेश चतुर्वेदी ने इस संबंध में सभी ज़िलाधिकारियों को पत्र लिखा है. आपदा राहत दल टिड्डी दल के प्रकोप से सुरक्षा के रोकथाम के लिए समुचित कार्रवाई करेगा. इसके अलावा जनपद स्तर पर भी आपदा राहत दल का गठन किया जाएगा. इस दल में जनपद में मुख्य विकास अधिकारी दल के अध्यक्ष होंगे, वहीं ज़िला कृषि अधिकारी और उप कृषि निदेशक सदस्य होंगे. ये टीम जनपद स्तर पर टिड्डियों से राहत और समुचित कार्यवाही का ज़िम्मा उठाएगी.



कई जिले हैं प्रभावित



बता दें टिड्डियों के आतंक से यूपी के कई जिले प्रभावित हैं. इससे बचाव के लिए वाराणसी के डीएम ने जिले के किसानों को सचेत करने के साथ-साथ बचाव के लिए सुझाव भी मांगे हैं. फिलहाल टिड्डियों के दल ने यूपी के झांसी, ललितपुर और हमीरपुर जिले में फसलों को काफी प्रभावित किया है. जिसको देखते हुए प्रशासनिक अधिकारी निगरानी रख रहे हैं. साथ ही सतर्कता की जरूरत भी बता रहे हैं. डीएम कौशलराज शर्मा ने कहा कि इसकी निगरानी जरूरी है. डीएम ने इससे संबंधित जानकारी किसानों तक पहुंचाने के निर्देश दिए हैं. डीएम ने यह भी कहा है कि लोगों को एक साथ जुटकर टिन के डिब्बे और थालियां बजाते हुए शोर करें. जिससे टिड्डी का दल आस-पास के खेतों में अटैक नहीं कर पाए.

कैमिकल छिड़काव भी है उपाय

इसके अलावा बलुआ क्षेत्रों में जुताई करने के साथ पानी का भराव करने को कहा गया है. इस प्रकोप की स्थिति में क्लोरोपायरिफास 20 प्रति ईसी या लैम्डासाइहैतोथ्रिन 05 प्रति इसी का छिड़काव करने को कहा गया है.

बुंदेलखंड में दी टिड्डियों ने दस्तक

इससे पहले इन पाकिस्तानी टिड्डियों के दल ने यूपी के बुंदेलखंड क्षेत्र में दस्तक दे दी है. जानकारी मिली है कि टिड्डी तेजी से प्रदेश की सीमावर्ती जिलों के काफी करीब पहुंच रहे हैं. इसकी जानकारी मिलने के बाद किसानों की चिंता बढ़ गई है. इसपर झांसी के जिला प्रशासन ने किसानों को सचेत किया है. साथ ही डीजे के साथ थाली और डिब्बे बजाकर टिड्डी सेना का मुकाबला करने की बात कही है. इन टिड्डियों के दल की ब्रज एवं बुंदेलखंड के कई जिलों की ओर बढ़ने की संभावना है. झांसी के डीएम आंध्रा बामसी के निर्देश पर मऊरानीपुर के उपजिलाधिकारी अंकुर श्रीवास्तव ने तहसील प्रशासन के लेखपालों के साथ किसानों को पाकिस्तानी टिड्डियों से उनकी फसल बचाने के लिए थाली, ढोल, नगाड़ों व डीजे की धुन से इन टिड्डियों को भगाने का तरीका भी बताया.

इनपुट: अनामिका सिंह

ये भी पढ़ें:

UP के इस DM ने बताया टिड्डियों को भगाने का रास्ता- बजाएं टिन के डिब्बे-थालियां

झांसी के रास्ते यूपी के इन जिलों की ओर बढ़ सकती है पाकिस्तानी टिड्डियों की सेना
First published: May 27, 2020, 5:02 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading