UP में फिल्म सिटी को लेकर एक्टिव हुई योगी सरकार, रजनीकांत समेत 25 हस्तियों को बुलावा

रजनीकांत समेत 25 फिल्मी हस्तियों को बुलावा (file photo)
रजनीकांत समेत 25 फिल्मी हस्तियों को बुलावा (file photo)

बता दें कि सौंदर्या रजनीकांत (Soundarya Rajinikanth) साउथ के सुपरस्टार रजनीकांत की बेटी हैं. इसके अलावा वह ग्राफिक डिजाइनर (Graphic Designer) रह चुकी हैं,

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 21, 2020, 7:12 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) की उत्तर प्रदेश में फिल्म सिटी (Film City) बनाने की घोषणा करने के बाद सरकार के अधिकारी एक्टिव मोड में आ गए हैं. इसी क्रम में योगी सरकार की ओर से साउथ के सुपरस्टार रजनीकांत (Rajinikanth) समेत 25 बड़ी फिल्मी हस्तियों को पत्र लिखकर बुलाया गया है और फिल्म सिटी बनाने के लिए सुझाव मांगे गए हैं. यूपी सरकार के अधिकारी अवनीश अवस्थी ने इस मसले पर सौंदर्या रजनीकांत को चिट्ठी लिखी है. चिट्ठी में कहा गया है कि यूपी सरकार फिल्म सिटी बना रही है, ऐसे में आपके द्वारा अगर सुझाव मिलेंगे तो वो फायदेमंद साबित होंगे.

सौंदर्या रजनीकांत को 22 सितंबर को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात के लिए बुलाया गया है. इसी दिन ही एक कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है, जिसमें फिल्म उद्योग से जुड़ी कई हस्तियां शामिल होंगी. बता दें कि सौंदर्या रजनीकांत साउथ के सुपरस्टार रजनीकांत की बेटी हैं. वह ग्राफिक डिजाइनर रह चुकी हैं, साथ ही उनका खुद का प्रोडक्शन हाउस भी है. यही कारण है कि साउथ की फिल्मों का अनुभव जानने के लिए उन्हें यूपी सरकार की ओर से यह न्योता दिया गया है.

ये भी पढ़ें- BJP सांसद रवि किशन बोले-किसी भी इंडस्ट्री में बेटियों का न हो शोषण, बने सख्त कानून



इससे पहले रविवार को फिल्म निर्माता-निर्देशक मधुर भंडारकर ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से उनके सरकारी आवास पर मुलाकात की थी. माना जा रहा है कि मधुर भंडारकर भी अब उत्तर प्रदेश में फिल्म निर्माण को लेकर सक्रिय होंगे. दरअसल सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हम एक उम्दा फ़िल्म सिटी तैयार करेंगे. फ़िल्म सिटी के लिए नोएडा (NOIDA), ग्रेटर नोएडा (Greater NOIDA) और यमुना एक्सप्रेसवे का क्षेत्र बेहतर होगा. यह फ़िल्म सिटी फ़िल्म निर्माताओं को एक बेहतर विकल्प उपलब्ध कराएगी, साथ ही, रोजगार सृजन की दृष्टि से भी अत्यंत उपयोगी प्रयास होगा. इस दिशा में भूमि के विकल्पों के साथ यथाशीघ्र कार्ययोजना तैयार की जाए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज