अपना शहर चुनें

States

अखिलेश यादव का सीएम योगी पर हमला, बोले- सरकार के नियंत्रण में अब कुछ भी नहीं, सिर्फ फर्जी बयानों का सहारा

अखिलेश यादव ने यूपी सरकार पर जमकर निशाना साधा है.
अखिलेश यादव ने यूपी सरकार पर जमकर निशाना साधा है.

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने यूपी में कोरोना वायरस (Coronavirus) के बढ़ते केस और अपराध को लेकर सरकार पर निशाना साधा है. उन्‍होंने कहा कि भाजपा सरकार हर मोर्चे पर फेल है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 24, 2020, 11:23 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने कहा है कि राज्य की भाजपा सरकार के नियंत्रण में कुछ भी नहीं है. वह बस जनता को बहलाने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ (Chief Minister Yogi Adityanath) के निर्देश और फर्जी बयान ही जारी किए जा रहे हैं. इसके साथ उन्‍होंने कहा कि प्रदेश सरकार के नियंत्रण में अब कुछ भी नहीं रह गया है. उत्‍तर प्रदेश में न तो कोरोना वायरस (Coronavirus)के संक्रमण पर रोक लग रही है और न ही अपराध के मामले कम हो रहे हैं.

सरकार सुस्त होती जा रही है: अखिलेश यादव
सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि प्रदेश में अब तक कुल 5.28 लाख लोग कोविड-19 से संक्रमित हो चुके हैं. उनमें से 7,582 लोगों की मौत हो चुकी है. जबकि अस्पतालों में मरीजों के इलाज में लापरवाही की तमाम शिकायतें आ रही हैं, लेकिन सरकार भी सुस्त होती जा रही है. बस मुख्यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के निर्देश और अस्पताली सेवाओं में बढ़ोत्तरी के फर्जी बयान ही जनता को बहकाने के लिए जारी हो रहे हैं. इसके अलावा उन्होंने आरोप लगाया कि सरकारी खजाने की लूट मची है और केंद्र सरकार झूठे आंकड़ों पर मुख्यमंत्री की प्रशंसा करती रहती है. अखिलेश यादव ने कहा कि जनता देख रही है कि भाजपा सरकार किस तरह विफल साबित हो गई है.


आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार को राज्यों को आगाह किया कि वे कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में थोड़ी भी ढिलाई ना बरतें और उनसे आग्रह किया कि वे पहले से भी ज्यादा सतर्क हों और इससे होने वाली मृत्यु की दर को एक प्रतिशत के नीचे लाने का प्रयास करें. इसके अलावा प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि नागरिकों को दिया जाने वाला टीका सभी वैज्ञानिक मानकों पर सुरक्षित होगा और प्रत्येक नागरिक का टीकाकरण राष्ट्रीय प्रतिबद्धता की तरह है. उन्होंने कहा कि राज्यों के साथ सामूहिक समन्वय में टीका वितरण रणनीति तैयार की जाएगी. वहीं, राज्यों के मुख्यमंत्रियों से चर्चा के दौरान प्रधानमंत्री ने आरटी-पीसीआर जांच का अनुपात बढ़ाने पर जोर दिया और कहा कि घरों में पृथकवास में रह रहे मरीजों की निगरानी भी बेहतरीन करनी होगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज