लाइव टीवी

कमलेश तिवारी हत्याकांड: योगी सरकार ने जांच के लिए गठित की एसआईटी

News18 Uttar Pradesh
Updated: October 19, 2019, 7:56 AM IST
कमलेश तिवारी हत्याकांड: योगी सरकार ने जांच के लिए गठित की एसआईटी
लखनऊ में कमलेश तिवारी हत्याकांड मामले में योगी सरका ने एसआईटी का गठन कर दिया है.

मुख्यमंत्री के निर्देश पर गृह विभाग ने एसआईटी (SIT) का गठन कर दिया है. अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने बताया कि आईजी लखनऊ एसके भगत, एसपी क्राइम लखनऊ दिनेश पुरी और डिप्टी एसपी एसटीएफ पीके मिश्रा को टीम में शामिल किया गया है.

  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ (Lucknow) में कमलेश तिवारी (Kamlesh Tiwari) हत्याकांड मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने विशेष जांच दल (SIT) गठित करने का आदेश दे दिया है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार देर रात कानून व्यवस्था को लेकर उच्चाधिकारियों के साथ बैठक की. इस दौरन सीएम योगी ने राजधानी में अपराध की स्थिति पर खासी नाराजगी जताई और कमलेश तिवारी हत्याकांड की जांच विशेष जांच दल (एसआईटी) से कराने के आदेश दिए. मुख्यमंत्री के निर्देश पर गृह विभाग ने एसआईटी का गठन कर दिया है. अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने बताया कि आईजी लखनऊ एसके भगत, एसपी क्राइम लखनऊ दिनेश पुरी और डिप्टी एसपी एसटीएफ पीके मिश्रा को टीम में शामिल किया गया है.

पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह ने बताया कि हत्यारों की तलाश के लिए टीमें गठित कर दी गयी हैं और सीसीटीवी फुटेज के आधार पर संदिग्ध व्यक्तियों के विषय में जानकारी प्राप्त की जा रही है. उन्होंने बताया कि हत्यारों के सम्बन्ध में कुछ महत्वपूर्ण सुराग भी मिले हैं.

पुलिस महानिदेशक ने बताया कि कमलेश तिवारी को पिछले कई माह से सुरक्षा उपलब्ध करायी गयी थी, जिसके तहत उन्हें गनर के अतिरिक्त स्थानीय थाने से भी सुरक्षाकर्मी दिया गया था. घटना के समय एक सुरक्षाकर्मी मृतक के आवास के नीचे तैनात था, जिसने हत्यारों को रोका और कमलेश तिवारी से पूछकर ही उन्हें आवास के अन्दर जाने दिया. सम्भवतः हत्यारों ने छद्म नामों का इस्तेमाल किया. उन्होंने कहा कि इस मामले की जांच तेजी से करते हुए हत्यारों को शीघ्र पकड़ा जाएगा.

सीसीटीवी फुटेज में एक महिला के साथ दिखे 3 संदिग्ध

इससे पहले हिंदू महासभा के पूर्व अध्यक्ष कमलेश तिवारी हत्याकांड (Kamlesh Tiwari Murder ) के संदिग्धों की एक और सीसीटीवी फुटेज (CCTV Footage) सामने आ गई है. ये फुटेज एक्सक्लूसिव न्यूज 18 के पास है. इस फुटेज में दो व्यक्तियों के साथ एक महिला भी दिखाई दे रही है. इसमें से एक व्यक्ति के हाथ में एक थैला दिखाई दे रहा है. आशंका जताई जा रही है कि इसी में संदिग्ध हथियार लेकर आए थे जिससे कमलेश की हत्या को अंजाम दिया गया.

बिजनौर के दो मौलानाओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज
हत्याकांड में बिजनौर के दौ मौलानाओं के खिलाफ नामजद मुकदमा भी दर्ज कर लिया गया है. हत्या, आपराधिक साजिश की धाराओं में एफआईआर दर्ज की गई है.मौलाना मुफ्ती नईम काजमी, इमाम मौलाना अनवारूल हक पर एफआईआर दर्ज की गई है. 2016 में दोनों मौलानाओं ने कमलेश के सिर पर 1.5 करोड़ का इनाम रखा था. कमलेश तिवारी की पत्नी किरन ने एफआईआर दर्ज कराई. नाका हिंडोला थाने में एफआईआर दर्ज हुई है.
Loading...

गला रेतकर की हत्या: डॉक्टर
बता दें कमलेश तिवारी को पहले गोली मारे जाने की खबर सामने आई थी, लेकिन डॉक्टरों का कहना है कि कमलेश तिवारी का किसी धारदार हथियार से गला रेता गया था. उधर पुलिस ने मौके से एक रिवाल्वर भी बरामद की है. पुलिस का कहना है कि हत्याकांड को कमलेश तिवारी के ही किसी परिचित ने अंजाम दिया है. वारदात को अंजाम देकर आरोपी फरार हो गया है.

ये भी पढ़ें:

कमलेश तिवारी हत्याकांड: सीसीटीवी फुटेज में दिखे 3 संदिग्ध, 1 महिला शामिल

कमलेश तिवारी की हत्या के बाद सख्त हुए CM योगी, तलब की रिपोर्ट

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 19, 2019, 7:47 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...