लाइव टीवी

योगी सरकार ने लागू किया ESMA, अब कर्मचारी नहीं कर सकेंगे हड़ताल
Lucknow News in Hindi

News18Hindi
Updated: May 22, 2020, 9:05 PM IST
योगी सरकार ने लागू किया ESMA, अब कर्मचारी नहीं कर सकेंगे हड़ताल
अब छह महीने तक कर्मचारी नहीं कर सकेंगे हड़ताल.(फ़ाइल फोटो)

योगी आदित्‍यनाथ सरकार (Yogi Adityanath Government) ने राज्य में एस्मा (Essential Services Management Act) कानून लागू कर दिया है.

  • Share this:
लखनऊ. इस समय पूरा देश कोरोना वायरस की महामारी से जूझ रहा है. जबकि उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण और लॉकडाउन के बीच सरकारी मशीनरी को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए योगी आदित्‍यनाथ सरकार (Yogi Adityanath Government) ने राज्य में एस्मा (Essential Services Management Act) कानून लागू कर दिया है.

यूपी  के अपर मुख्य सचिव, कार्मिक मुकुल सिंहल की ओर से जारी अधिसूचना के मुताबिक उत्तर प्रदेश अत्यावश्यक सेवाओं का अनुरक्षण अधिनियम, 1966 (उत्तर प्रदेश अधिनियम संख्या 30 सन् 1966) की धारा 3 की उप धारा (1) के तहत राज्य के कार्यकलापों से संबंधित किसी भी लोकसेवा, राज्य सरकार के स्वामित्व या नियंत्रण वाले किसी निगम या स्थानीय प्राधिकरण में हड़ताल पर अगले छह माह के लिए प्रतिबंध लागू कर दिया गया है.

कर्मचारी छुट्टी और हड़ताल पर नहीं जा सकेंगे
योगी सरकार द्वारा उत्‍तर प्रदेश में एस्मा कानून के लागू किए जाने के बाद अति आवश्यक सेवाओं में लगे कर्मचारी न तो छुट्टी ले सकेंगे और न ही हड़ताल पर जा सकेंगे. साफ है कि सभी अति आवश्यक कर्मचारियों को सरकार के निर्देशों का पालन करना अनिवार्य होगा और जो इस नियम को नहीं मानेगा उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी.



क्‍या होता है एस्‍मा


एस्मा भारतीय संसद द्वारा पारित अधिनियम है, जिसे 1968 में लागू किया गया था. जबकि यह कानून संकट की घड़ी में कर्मचारियों की हड़ताल को रोकने के लिए बनाया गया था.वहीं, एस्मा लागू करने से पहले इससे प्रभावित होने वाले कर्मचारियों को समाचार पत्रों या अन्य माध्यमों से सूचित किया जाता है. जबकि किसी राज्य सरकार या केंद्र सरकार द्वारा यह कानून अधिकतम छह माह के लिए लगाया जा सकता है. इस कानून के लागू होने के बाद यदि कोई कर्मचारी छुट्टी लेता है या फिर हड़ताल पर जाता है, तो उनका ये कदम अवैध और दंडनीय की श्रेणी में आता है. यह नहीं, प्रदेश में एस्मा कानून का उल्लंघन कर हड़ताल पर किसी भी कर्मचारी को बिना वारंट गिरफ्तार किया जा सकता है.

उप्र में कोरोना वायरस संक्रमण के 5619 मामले
उत्तर प्रदेश में शुक्रवार को कोविड—19 संक्रमण के 104 नए मामले आये है और अब प्रदेश में संक्रमित रोगियों की संख्या बढ़कर 5619 हो गयी है. प्रमुख सचिव (चिकित्सा एवं स्वास्थ्य) अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि अब तक 5619 कोरोना संक्रमण के मामले आये है और इनमें से 3238 मरीज ठीक होकर घर जा चुके है जबकि 2243 मरीजों का इलाज चल रहा है. वहीं, राज्य में कोरोना वायरस से मरने वालो की संख्या 138 है. साथ ही उन्‍होंने कहा कि गुरुवार को 7249 लोगों के सैंपल परीक्षण के लिये भेजे गये और जबकि 928 ‘पूल टेस्ट’ किये गये.

ये भी पढ़ें

उत्‍तर प्रदेश के पूर्व शिक्षा मंत्री नेपाल सिंह का हार्ट अटैक से निधन


 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 22, 2020, 6:23 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading