अपना शहर चुनें

States

लव जिहाद अध्‍यादेश: अखिलेश यादव बोले- 'जिहादी उन्माद' फैलाने वाली सरकार का 2022 में जनता करेगी 'राम नाम सत्य'

भाजपा सरकार को बस दो ही बातें सूझ रही है, 'राम नाम सत्य' करो या 'जिहाद' बोल दो: अखिलेश (File Photo)
भाजपा सरकार को बस दो ही बातें सूझ रही है, 'राम नाम सत्य' करो या 'जिहाद' बोल दो: अखिलेश (File Photo)

कथित 'लव जिहाद' अध्यादेश ( Love Jihad Ordinance) के बहाने अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav)ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) पर 'जिहादी उन्माद' फैलाकर फिर जनता को भटकाने की कोशिश का आरोप लगाया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 25, 2020, 6:11 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. कथित 'लव जिहाद' के खिलाफ लाये गये अध्यादेश ( Love Jihad Ordinance) की चर्चाओं के बीच समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष और यूपी के पूर्व मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Chief Minister Yogi Adityanath) पर तंज करते हुए बुधवार को कहा कि योगी 'जिहादी उन्माद' फैलाकर फिर जनता को भटकाने की कोशिश में लग गये हैं. इसके अलावा उन्‍होंने सरकार पर आरोप लगाया कि रोज नए-नए कड़े कानून अपनी अकर्मण्यता छुपाने के लिए ही लाए जा रहे हैं.

जनता को भटकाने की कोशिश में लग गए सीएम
अखिलेश ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ' लव जिहाद' अध्‍यादेश के बहाने जिहादी उन्माद फैलाकर फिर जनता को भटकाने की कोशिश में लग गए हैं. नफरत फैलाकर समाज को बांटने की भाजपा-राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की पुरानी रणनीति है. जबकि रोज नए-नए कड़े कानून अपनी अकर्मण्यता छुपाने के लिए ही लाए जा रहे हैं.

सख्त बयान तो किसी मर्ज का इलाज नहीं है. वैसे भी कानून कड़ा या नरम नहीं होता है, उसका कैसे प्रयोग होता है, इस पर उसका प्रभावी या अप्रभावी होना निर्भर करता है:अखिलेश यादव

गौरतलब है कि प्रदेश के योगी मंत्रिमण्डल ने मंगलवार को कथित 'लव जिहाद' के खिलाफ अध्यादेश पर मुहर लगा दी है. इसके तहत अब छल, कपट या जोर-जबर्दस्ती से शादी के जरिये धर्म परिवर्तन करने को गैरजमानती अपराध बना दिया गया है. इसका उल्लंघन करने पर अधिकतम 10 साल कैद की सजा तय की गयी है.



भाजपा पर लगाया ये आरोप
अखिलेश ने कहा कि कि प्रदेश में भाजपा सरकार के गठन के पौने चार साल बीत रहे हैं, मगर जनता की तकलीफें घटने के बजाय बढ़ती गई हैं. उन्होंने कहा कि अर्थव्यवस्था खराब दौर से गुजर रही है, मंहगाई और भ्रष्टाचार चरम पर है. काला बाजारियों और जमाखोरों पर कोई अंकुश नहीं है और कानून व्यवस्था चौपट है. बर्बादी के इन बुरे दिनों में भी भाजपा सरकार को बस दो ही बातें सूझ रही है, 'राम नाम सत्य' करो या 'जिहाद' बोल दो. इसके अलावा यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि जनता भी समझ गई है कि जुमलेबाजी और तुक्केबाजी वाली सरकार से उसका कोई भला होने वाला नहीं है, इसीलिए उसने भी वर्ष 2022 के आगामी विधानसभा चुनावों में इस नाकामयाब और नाकाबिल सरकार का 'राम नाम सत्य' करने का इरादा कर लिया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज