होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /योगी सरकार के कैबिनेट मंत्री ब्रजेश पाठक की तबीयत खराब, सांस लेने में तकलीफ के बाद PGI में किया गया भर्ती

योगी सरकार के कैबिनेट मंत्री ब्रजेश पाठक की तबीयत खराब, सांस लेने में तकलीफ के बाद PGI में किया गया भर्ती

योगी सरकार के कैबिनेट मंत्री ब्रजेश पाठक PGI में भर्ती (file photo)

योगी सरकार के कैबिनेट मंत्री ब्रजेश पाठक PGI में भर्ती (file photo)

यूपी के कानून मंत्री ब्रजेश पाठक (Brijesh Pathak) 5 अगस्त को कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे जिसके बाद से वह होम आइसोलेशन में ...अधिक पढ़ें

लखनऊ. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में कोरोना संक्रमण (COVID-19) तेज से फ़ैल रहा है. इसी कड़ी में योगी सरकार में कानून मंत्री ब्रजेश पाठक (Brijesh Pathak) को सांस लेने में तकलीफ के कारण रविवार सुबह लखनऊ पीजीआई के कोविड अस्पताल में भर्ती कराया गया है. उन्हें आईसीयू में रखा गया है. बता दें कि कैबिनेट मंत्री बृजेश पाठक पांच अगस्त को कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे जिसके बाद से वह होम आइसोलेशन में थे.

उन्होंने खुद ट्वीट कर कोरोना पॉजिटिव होने की जानकारी दी थी. उन्हें शनिवार रात सांस लेने में तकलीफ हुई जिसके बाद रविवार सुबह उन्हें पीजीआई के कोविड अस्पताल में भर्ती करवाया गया है. आईसीयू प्रभारी डॉ. देवेंद्र गुप्ता के नेतृत्व में डॉक्टरों की टीम कैबिनेट मंत्री के इलाज में जुटी हुई है.

ये भी पढे़ं- लखनऊ: मेदांता हॉस्पिटल से सामने आई मुलायम सिंह यादव की तस्वीर, हालत में सुधार

इससे पहले यूपी के अपर मुख्य सचिव गृह एवं सूचना अवनीश कुमार अवस्थी ने शनिवार को बताया कि कोरोना टेस्टिंग में अन्य राज्यों की तुलना में यूपी अग्रणी है. प्रदेश में अब तक 29,96,406 सैंपल की जांच की जा चुकी है. टेस्टिंग में सिर्फ तमिलनाडु ही यूपी से आगे है. वहां यूपी से दो लाख अधिक सैंपल की जांच हुई है.

69,833 मरीज स्वस्थ होने के बाद डिस्चार्ज

अवस्थी ने बताया कि प्रदेश में 46,177 कोरोना के मामले एक्टिव हैं. इनमें 15,678 मरीज होम आइसोलेशन, 1352 लोग प्राइवेट हॉस्पिटल में तथा 178 मरीज सेमी पेड फैसिलिटी में हैं. शेष कोरोना संक्रमित एल-1, एल-2, एल-3 अस्पतालों में भर्ती हैं. उन्होंने बताया कि अब तक 69,833 मरीज स्वस्थ होने के बाद डिस्चार्ज हो चुके हैं.

यूपी में कोविड हेल्प डेस्क की स्थापना

यूपी के अपर मुख्य सचिव (चिकित्सा एवं स्वास्थ्य) अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि अर्द्धभुगतान व्यवस्था व्यवस्था में होटलों में लक्षणविहीन लोग जहां रहते हैं, वहां सरकारी चिकित्सकीय टीम उन्हें चिकित्सा सुविधा देती है. बाकी समस्त मरीज हमारी त्रिस्तरीय व्यवस्था एल-1, एल-2, और एल-3 में अस्पतालों में अपना इलाज करा रहे हैं. उन्होंने बताया कि निगरानी का कार्य लगातार चल रहा है और कुल 46, 504 इलाकों में निगरानी का कार्य किया गया है. प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में कोविड हेल्प डेस्क की स्थापना की गयी है.

आपके शहर से (लखनऊ)

Tags: BJP, CM Yogi, Corona Cases, Corona positive, Lucknow news, UP news, UP police, Yogi adityanath, Yogi government

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें