योगी सरकार ने तोड़ा सभी रिकॉर्ड, गन्ना किसानों को किया 418 करोड़ रुपये का भुगतान
Gorakhpur News in Hindi

योगी सरकार ने तोड़ा सभी रिकॉर्ड, गन्ना किसानों को किया 418 करोड़ रुपये का भुगतान
गन्ना किसानों को किया 418 करोड़ रुपये का भुगतान

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) गन्ना किसानों के हितों के संरक्षण को लेकर शुरू से ही प्रतिबद्ध रहे हैं. 2007 से 2012 तक उत्तर प्रदेश में 19 चीनी मिलें बंद हुई थी.

  • Share this:
लखनऊ. कोरोना संकट (Corona Epidemic) के बीच उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने शुक्रवार को गन्ना किसानों (Sugarcane Farmers) की बकाया राशि बटन दबाकर उनके खाते में 418 करोड़ रुपये ऑनलाइन ट्रांसफर किए. शासन की ओर से मिली जानकारी के अनुसार गन्ना किसानों के खाते में 418 करोड़ रुपये ट्रांसफर किए गए हैं. योगी सरकार का दावा है कि गन्ना किसानों के खाते में 418 करोड़ रुपये के भुगतान के साथ ही पिछली सभी सरकारों के रिकॉर्ड टूट गए. इसके साथ ही 3 वर्षों में 100325 करोड़ों रुपए के गन्ना मूल्य का भुगतान योगी सरकार ने किया है, जो किसी भी सरकार ने इतना भुगतान अपने 5 साल के कार्यकाल में भी नहीं किया.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गन्ना किसानों के हितों के संरक्षण को लेकर शुरू से ही प्रतिबद्ध रहे हैं. 2007 से 2012 तक उत्तर प्रदेश में 19 चीनी मिलें बंद हुई थी. जबकि 2012 से 2017 तक 10 मिले बंद हुई, लेकिन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 3 साल में डेढ़ दर्जन से ज्यादा मिलों की क्षमता वृद्धि की पुरानी मिलों को चालू कराया और नई मिलो का संचालन किया. गन्ना किसानों का अब तक का सर्वाधिक भुगतान समय पर करने का रिकॉर्ड भी सरकार के नाम है. प्रदेश में 48 लाख गन्ना किसान हैं.

ये भी पढ़ें: जौनपुर की अस्थाई जेल से हत्यारोपी समेत दो बंदी फरार, मचा हड़कंप



इनके हितों को ध्यान में रखते हुए लॉकडाउन के दौरान भी 119 चीनी मिलें प्रदेश में चलती रही. हर मिल से 25 से 40000 किसान जुड़े हुए हैं. हर मिल 8 से 10000 लोगों को रोजगार देती है. लॉकडाउन के दौरान इन मिलों के चलते रहने से इनकी आजीविका में कहीं कोई दिक्कत नहीं आई. इसका नतीजा है कि समय उत्तर प्रदेश गन्ना उत्पादन और चीनी उत्पादन में देश में पहले स्थान पर है.
ये भी पढ़ें: भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर के खिलाफ NCW अध्यक्ष ने DGP को लिखा पत्र, अभद्र ट्वीट पर कार्रवाई कर दें ब्यौरा

मिल और डिस्टलरी ने प्रतिदिन 500000 लीटर सैनिटाइजर बनाने की क्षमता प्राप्त कर ली है. आज 28 अन्य राज्यों को, दूसरे देशों को भी सैनिटाइजर की आपूर्ति की जा रही है. गौरतलब है कि गन्ना किसानों के बकाया भुगतान को लेकर योगी सरकार ने सत्ता में आने के एक साल बाद ही कड़े तेवर दिखाए थे. तब सीएम योगी ने गन्ना किसानों की बकाया राशि का भुगतान न करने वाले चीनी मिल प्रबंधकों के खिलाफ कार्रवाई की चेतावनी दी थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading