1.5 लाख रियल एस्टेट और 10 हजार ड्राइवर सहित इन कामगारों को रोजगार देगी योगी सरकार
Ambedkar-Nagar-Uttar-Pradesh News in Hindi

1.5 लाख रियल एस्टेट और 10 हजार ड्राइवर सहित इन कामगारों को रोजगार देगी योगी सरकार
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (File Photo)

फिलहाल जो स्किल मैपिंग (Skill Maping) की लिस्ट तैयार हुई है, उनमें सबसे बड़ी तादाद ऐसे कामगारों की है, जो रियल एस्टेट के कारोबार से जुड़े हैं. इसी तरह फर्नीचर और फिटिंग के कारीगर, बिल्डिंग डेकोरेटर, होम केयरटेकर, ड्राइवर, आईटी और इलेक्ट्रॉनिक्स के टेक्नीशियन, होम एप्लांयस टेक्नीशियन, आटोमोबाइल टेक्नीशियन, पैरामेडिकल एवं फार्मा, ड्रेस मेकर, ब्यूटीशियन, हैंडिक्राफ्ट एंड कारपेट्स मेकर और सिक्योरिटी गार्ड्स मिले हैं.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
लखनऊ. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath )ने ऐलान किया है कि दूसरे राज्यों से उत्तर प्रदेश में अपने घर वापस आने वाले कामगारों, श्रमिकों (Workers, Laborers) की स्किल मैपिंग (Skill Maping) कर सरकार ने पहली सूची तैयार कर ली है. सभी को रोजगार देने के लिए प्रदेा में कामगार/श्रमिक (सेवायोजन एवं रोजगार) कल्याण आयोग गठित किया जा रहा है. जानकारी के अनुसार प्रदेश में अब तक करीब 14.75 लाख कामगारों व श्रमिकों की स्किल मैपिंग का काम पूरा हो चुका है. वहीं बाकी कामगारों का कभी तेजी से स्किल मैपिंग जारी है.

मुख्यमंत्री की कोशिश है कि कामगार/ श्रमिक (सेवायोजन एवं रोजगार) कल्याण आयोग के गठन कर इन कामगारों, श्रमिकों को उत्तर प्रदेश में ही रोजगार मुहैया कराई जाए. ताकि भविष्य में रोजी-रोटी के लिए दूसरे राज्यों में पलायन न करना पड़े.

फिलहाल जो स्किल मैपिंग की लिस्ट तैयार हुई है, उनमें सबसे बड़ी तादाद ऐसे कामगारों की है, जो रियल एस्टेट के कारोबार से जुड़े हैं. इनमें ठेकेदार से लेकर राजमिस्त्री तक शामिल हैं. ऐसे करीब डेढ़ लाख लोग मिले हैं. इसी तरह फर्नीचर और फिटिंग के कारीगर, बिल्डिंग डेकोरेटर, होम केयरटेकर, ड्राइवर, आईटी और इलेक्ट्रॉनिक्स के टेक्नीशियन, होम एप्लांयस टेक्नीशियन, आटोमोबाइल टेक्नीशियन, पैरामेडिकल एवं फार्मा, ड्रेस मेकर, ब्यूटीशियन, हैंडिक्राफ्ट एंड कारपेट्स मेकर और सिक्योरिटी गार्ड्स मिले हैं.



अब तक जुटाए गए प्रवासियों के कुछ प्रमुख आंकड़े 



स्किल मैपिंग में सबसे बड़ी 1,51, 492 तादाद रीयल स्टेट डेवलपर / वर्करों की

फर्नीचर एवं फीटिंग के 26989 टेक्नीशियन

बिल्डिंग डेकोरेटर- 26041

होम केयरटेकर- 12633

ड्राइवर- 10,000

आईटी एवं इलेक्ट्रानिक्स टेक्नीशियन- 4680

होम एप्लांयस टेक्नीशियन- 5884

आटोमोबाइल टेक्नीशियन- 1558

पैरामेडिकल एवं फार्माक्यूटिकल-596

ड्रेस मेकर-  12103

ब्यूटिशियन-  1274

हैंडिक्राफ्ट एंड कारपेट्स मेकर - 1294

सिक्योरिटी गार्डस- 3364

रोजगार के साथ सामाजिक सुरक्षा की गारंटी

 

योगी सरकार ने इन सभी को प्रदेश में ही रोजगार के साथ सामाजिक सुरक्षा की गारंटी देने की तैयारी कर ली है. इसके लिए प्रदेश में कामगार/ श्रमिक (सेवायोजन एवं रोजगार) कल्याण आयोग गठित किया जा रहा है. ये आयोग यूपी के साथ ही दूसरे प्रदेशों में कामगारों की जरूरत पर काम करेगा. इसके साथ ही सरकार इन कामगारों को सोशल सिक्योरिटी भी देगी. इसका साफ मतलब ये है कि सरकार अन्य राज्यों को आवश्यकतानुसार मैन पावर उपलब्ध कराएगी लेकिन सामाजिक सुरक्षा के नियमों को ध्यान में रखकर. ताकि किसी कामगार, मजदूर का उत्पीड़न न हो सके.

ट्रेनिंग भत्ता भी

यही नहीं सरका ने हर कामगार, श्रमिक को बीमा की सुरक्षा देने के साथ ही प्रदेश में एक जनपद के कामगार व श्रमिक को दूसरे जनपद में रोजगार मिलने पर आवासीय व्यवस्था भी देने की तैयारी शुरू कर दी है. स्किल मैपिंग के इस पूरे प्रॉसेस के बाद योगी सरकार इन कामगारों की ट्रेनिंग भी करोगी और ट्रेनिंग भत्ता भी देगी.

ये भी पढ़े:

सीएम योगी का ऐलान- UP वापस आए प्रवासी श्रमिकों की स्किल मैपिंग की सूची तैयार

लॉकडाउन के बीच झांसी में पाकिस्तानी टिड्डी दल से जंग, 40 लाख ढेर
First published: May 26, 2020, 12:04 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading