अलीगढ़ शराब कांड के बाद सख्ती, UP के मुकदमों को लेकर ADG अभियोजन से स्टेटस रिपोर्ट तलब

यूपी में शराब कांडों को लेकर अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी ने रिपोर्ट तलब कर ली है. (File Photo)

यूपी में शराब कांडों को लेकर अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी ने रिपोर्ट तलब कर ली है. (File Photo)

Lucknow News: अलीगढ़ शराब कांड के बाद यूपी सरकार ने सख्ती शुरू कर दी है. मामले में अपर पुलिस महानिदेशक, अभियान से प्रदेश भर के इस तरह के मामलों की स्टेटस रिपोर्ट तलब कर ली गई है. उन्हें 3 दिन में ये रिपोर्ट अपर मुख्य सचिव, गृह अवनीश अवस्थी को देनी है.

  • Share this:

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में शराब कांड ((Hooch Tragedy) के बाद सरकार ने सख्ती शुरू कर दी है. मामले में अपर मुख्य सचिव, गृह अवनीश अवस्थी (ACS, Home Awanish Awasthi) ने अपर पुलिस महानिदेशक, अभियोजन से रिपोर्ट तलब कर ली है. एसीएस होम ने प्रदेश में अवैध शराब से जुड़े मुकदमों की स्टेटस रिपोर्ट तलब की है. एडीजी अभियोजन से तीन दिन में स्टेटस रिपोर्ट देने का निर्देश है. उन्होंने प्रदेश में आबकारी से जुड़े मुकदमों की सख़्त निगरानी के निर्देश दिए हैं. इसके अलावा इन केसों में कोर्ट में मज़बूत पैरवी कर दोषियों को सज़ा दिलाने की क़वायद शुरू की गई है. साथ ही आरोपियों पर गैंगस्टर एक्ट लगाने के निर्देश दिए गए हैं.

बता दें अलीगढ़ शराब कांड में मौतों के लिए जिम्मेदार मुख्य आरोपी और एक लाख का इनामी बदमाश ऋषि शर्मा (Rishi Sharma) को पुलिस ने पिछले दिनों गिरफ्तार कर लिया है. वह बीजेपी का सदस्य था, जिसके बाद बीजेपी ने भी उसे पार्टी से निष्कासित कर दिया है. इसके अलावा मामले के 5 प्रमुख आरोपियों के खिलाफ एनएसए और गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई शुरू हो गई है.

Youtube Video

बता दें गौरतलब है कि अलीगढ़ के टप्पल और अकराबाद थाना क्षेत्र में गत 28 मई से शुरू हुआ जहरीली शराब पीने से मौतों का सिलसिला कई दिनों तक जारी रहा. प्रशासन ने इसमें अब तक 35 लोगों की मृत्यु की पुष्टि की है. इसके अलावा गत दो जून को जवां थाना क्षेत्र में भी नहर में फेंकी गई शराब पीने से 10 ईंट भट्ठा मजदूरों की मौत हो गई थी. इस तरह जिले में जहरीली शराब से हुई मौतों का आधिकारिक आंकड़ा 45 हो गया है.
हालांकि, संदिग्ध रूप से जहरीली शराब पीने के कारण मरे 98 लोगों का अब तक पोस्टमॉर्टम कराया जा चुका है. प्रशासन का मानना है कि 35 के अतिरिक्त जिन लोगों का भी पोस्टमॉर्टम हुआ है, उनकी विसरा रिपोर्ट आने के बाद ही माना जाएगा कि उनकी मृत्यु जहरीली शराब पीने से हुई है या नहीं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज