COVID-19: UP लौट रहे प्रवासी मजदूरों के लिए योगी सरकार ला रही 2 बड़ी योजनाएं

UP: देश भर से प्रवासी मजदूर अपने घर लौटने लगे हैं.

UP: देश भर से प्रवासी मजदूर अपने घर लौटने लगे हैं.

Lucknow News: उत्तर प्रदेश में असंगठित क्षेत्र में कार्यरत श्रमिकों की सामाजिक सुरक्षा के लिए योजनाएं लागू की जाएंगी. इसके तहत हादसे में मृत्यु या दिव्यांग होने पर ₹2 लाख तक की मदद और हर साल इलाज के लिए ₹5लाख का बीमा लाभ दिया जाएगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 30, 2021, 10:42 AM IST
  • Share this:
लखनऊ. देश में कोरोना संक्रमण (COVID-19) को देखते हुए दूसरे राज्यों से प्रवासी मजदूरों (Migrant Laborers) की उत्तर प्रदेश  वापसी फिर से शुरू हो गई है. इन प्रवासी मजदूरों के लिए योगी सरकार (Yogi Government) जल्द दो बड़ी योजनाएं लाने जा रही है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने घर लौट रहे प्रवासी मजदूरों की स्वास्थ्य रिपोर्ट अपडेट लेने की जिम्मेदारी दो अधिकारियों को दी है. साथ ही इनके लिए बनाए गए क्वारेंटाइन सेंटर के बारे में अधिकारियों से लगातार अपडेट लिया जा रहा है.

जानकारी के अनुसार असंगठित क्षेत्र में कार्यरत श्रमिकों की सामाजिक सुरक्षा के लिए योजनाएं लागू की जाएंगी. इसके तहत हादसे में मृत्यु या दिव्यांग होने पर ₹2 लाख तक की मदद और हर साल इलाज के लिए ₹5लाख का बीमा लाभ दिया जाएगा. माना जा रहा है कि सरकार असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों को सामाजिक सुरक्षा के दायरे में लाने के लिए राज्य सामाजिक सुरक्षा बोर्ड के माध्यम से इन दो योजनाओं की शुरुआत जल्द करेगी.

सभी श्रमिकों को क्वारेंटाइन करने का निर्देश

बता दें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विभिन्न राज्यों से प्रदेश में आ रहे प्रवासी कामगार/श्रमिकों को क्वारेंटाइन करने के निर्देश दिए हैं. उन्होंने कहा है कि होम आइसोलेशन में मरीजों को समय से मेडिकल किट उपलब्ध करायी जाए. मेडिकल किट में 7 दिन के लिए सभी निर्धारित दवाएं होनी चाहिए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज