योगी सरकार की शोहदों-दुराचारियों पर रहेगी नजर, विजयादशमी से शुरू होगा 'दहन'

योगी सरकार की शोहदों-दुराचारियों पर रहेगी नजर (file photo)
योगी सरकार की शोहदों-दुराचारियों पर रहेगी नजर (file photo)

अफसरों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान सीएम योगी (CM Yogi) ने जिलाधिकारियों और पुलिस कप्तानों को सख्त निर्देश दिए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 17, 2020, 4:34 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश की योगी सरकार (Yogi Government) शोहदों-दुराचारियों के खिलाफ महाभियान छेड़ने जा रही है. नवरात्र के 9 दिन तक हर गतिविधि पुलिस की नजर रहेगी. इस पूरे अभियान की डिटेल रिपोर्ट तैयार की जाएगी और इस रिपोर्ट का आधार पर विजयादशमी के बाद कार्रवाई होगी. अभियान के तहत प्रदेश के सभी जिलों में नवरात्र के दौरान दुर्गा पूजा पंडालों और रामलीला मंचन के आसपास सादी कपड़ों में महिला पुलिसकर्मी तैनात रहेगी. इस दौरान सोशल मीडिया पर अभद्रता, उत्तेजनात्मक प्रयास करने वालों पर पुलिस की नजर रहेगी.

दरअसल आगामी त्योहारों को देखते हुए यूपी में बेहतर कानून-व्यवस्था के लिए सीएम योगी आदित्यनाथ ने पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बैठक की. इस दौरान सीएम योगी ने कहा कि शोहदों और दुराचारियों के लिए यूपी में कोई जगह नहीं है. पुलिस इनसे निपटने के लिए सक्रियता, तत्परता, संवेदनशीलता और कठोरता की नीति अपनाए. प्रदेश में बेहतर कानून व्यवस्था के लिए मुख्यमंत्री ने मन्त्र दिया कि अफवाहबाजों पर पैनी नजर रखें. घटनाओं की सही जानकारी लोगों तक पहुंचाए.


अफसरों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान सीएम योगी ने जिलाधिकारियों और पुलिस कप्तानों को सख्त निर्देश दिए. उन्होंने कहा कि त्योहारों पर अपराधियों, अराजक तत्वों पर कड़ी नजर रखी जाए. महिलाओं के साथ अपराध करने वालों बड़ी कार्रवाई की जाए. शोहदों और दुराचारियों के खिलाफ मुख्यमंत्री ने बड़ी कार्रवाई का निर्देश दिया, साथ ही सोशल मीडिया पर अभद्रता व अफवाह फैलाने वालों पर कार्रवाई करने की बात कही.



UP में मिशन शक्ति का आगाज

मामले में अब सीएम योगी आदित्यनाथ ने बड़ा ऐलान किया है. सीएम योगी ने शारदीय नवरात्र के पहले दिन शनिवार से पूरे प्रदेश में मिशन शक्ति की शुरुआत की है. इस अभियान का लक्ष्य प्रदेश की महिलाओं और बच्चों के प्रति सम्मान और सुरक्षा की भावना का प्रसार करना है. साथ ही महिला स्वावलंबन की आवश्यकता को नवीन आयाम प्रदान करने की कोशिश की जाएगी. 180 दिवसीय इस अभियान के दौरान प्रदेश के सभी 75 जिलों, 521 ब्लाकों, 59,000 पंचायतों, 630 शहरी निकायों व 1535 थानों के माध्यम से महिलाओं एवं बालिकाओं को आत्मनिर्भर बनने का प्रशिक्षण, सुरक्षा एवं सम्मान के प्रति जागरूक किया जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज