UP: योगी सरकार पेश करेगी पेपरलेस बजट, मंत्रियों की तरह सभी विधायकों को टैब देने की तैयारी

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार पेपरलेस गवर्नेंस की तरफ बढ़ रही है.

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार पेपरलेस गवर्नेंस की तरफ बढ़ रही है.

UP News: योगी मंत्रिमंडल के सभी मंत्रियों को टैब और पेपरलेस गवर्नेंस का प्रशिक्षण दिया जा चुका है. अब सभी विधायकों को भी जल्द टैब दिया जाएगा. जानकारी के अनुसार बजट सत्र से पहले ही टैब व प्रशिक्षण दिया जाएगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 3, 2021, 6:27 PM IST
  • Share this:

लखनऊ. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के डिजिटल भारत अभियान (Digital India) में उत्तर प्रदेश की भूमिका अग्रणी बनाए रखने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) जुटे हुए हैं. इसी क्रम में योगी सरकार ने फैसला किया है कि केंद्रीय बजट की तरह इस बार यूपी का बजट भी पेपरलेस (Paperless Budget) हो. इसी की तैयारी में सीएम योगी अब प्रदेश के सभी विधायकों को टेकसैवी बनाने की कोशिश कर रहे हैं. जल्द ही प्रदेश के सभी विधायकों को टैब (Tablet) देने की योजना है. यही नहीं सरकार की तरफ से जल्द ही विधायकों को भी पेपरलेस गवर्नेंस का प्रशिक्षण दिया जाएगा.

बता दें एक दिन पहले ही मंगलवार को योगी मंत्रिमंडल के सभी मंत्रियों को टैब और पेपरलेस गवर्नेंस का प्रशिक्षण दिया जा चुका है. अब सभी विधायकों को भी जल्द टैब दिया जाएगा. जानकारी के अनुसार प्रशिक्षण बजट सत्र से पहले ही टैब व प्रशिक्षण दिया जाएगा. इस बार योगी सरकार पेपरलेस बजट पेश करेगी. बता दें सीएम योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों से कहा है कि केंद्रीय बजट की तरह राज्य का बजट भी पेपरलेस किया जाए. यही नहीं यूपी में अब कैबिनेट बैठकें भी पेपरलेस ही होंगी. प्रदेश में ई-कैबिनेट की व्यवस्था लागू हो रही है.

Youtube Video

मैनुअल एजेंडा व कैबिनेट नोट नहीं दिया जाएगा


पेपरलेस कैबिनेट के लिए ई-कैबिनेट का पोर्टल विकसित किया गया है. सरकार के सभी मंत्री व आला अफसर पोर्टल से जुड़ रहे हैं. इस पोर्टल पर कैबिनेट की बैठकों से जुड़े प्रस्ताव, नोट व उन पर कमेंट भी ऑनलाइन उपलब्ध होंगे. मंत्रियों को अब मैनुअल एजेंडा व कैबिनेट नोट नहीं भेजा जाएगा. कैबिनेट की उन्हें सूचना दी जाएगी. इसके बाद वह पोर्टल पर लॉगिन कर कैबिनेट से जुड़े दस्तावेज दे सकेंगे. कैबिनेट बाई सर्कुलेशन भी ऑनलाइन होगी. पोर्टल पर कैबिनेट की पुरानी बैठकों के निर्णय, उन पर हुई कार्रवाई का भी ब्योरा देखा जा सकेगा.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज