बड़ी पहलः अब यूपी के युवाओं को विदेशों में रोजगार दिलाएगी योगी सरकार

अब युवाओं को विदेशों में रोजगार दिलाने की तैयारी (File photo)

अब युवाओं को विदेशों में रोजगार दिलाने की तैयारी (File photo)

Big Initiative: योगी सरकार के कौशल विकास विभाग की ओर से युवाओं को आत्‍मनिर्भर बनाने के लिए आभा एप विकसित किया गया है. जिससे प्रशिक्षित होकर यूपी के युवा विदेशों में इंडस्ट्री सेक्टर में नौकरी पा सकेंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 5, 2021, 2:08 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ (CM Yogi Adityanath) युवाओं को आत्‍मनिर्भर बनाना चाहते हैं. इस दिशा में उनकी कोशिशें के नतीजे सामने आने लगे हैं. एक बड़ी पहल के तहत व्यावसायिक शिक्षा एवं व्कौशल विकास विभाग ने युवाओं के लिए अमेरिका के अन्‍तर्राष्‍ट्रीय डिजिटल लर्निंग प्‍लेटफार्म (Internation Digital Learning Platform) कोर्सेरा के माध्‍यम से नि:शुल्‍क ट्रेनिंग कार्यक्रम शुरू किया है. इससे प्रदेश के युवा उद्योगों में काम करने लायक बन सकेंगे. विभाग प्रदेश के युवाओं को विदेशों में रोजगार हासिल करने के मौके मुहैया कराएगा.

व्‍यावसायिक शिक्षा एवं कौश‍ल विकास विभाग के अनुसार अब तक प्रदेश के 50 हजार युवाओं को अमेरिका में स्थित कोर्स के जरिए प्रशिक्षण दिलाए जाने की व्‍यवस्‍था की है. ट्रेनिंग पूरी होने के बाद इन युवाओं को कोर्सेरा की ओर से सर्टिफिकेट भी उपलब्‍ध कराया जाएगा. विभाग के अनुसार ट्रेनिंग के बाद युवाओं को मिलने वाले सर्टिफिकेट की मान्‍यता विश्‍व के कई देशों में है। इससे देश के युवाओं को विदेशों में जाकर नौकरी करने के अवसर प्राप्‍त होंगे.

आभा एप बनाएगा आत्‍मनिर्भर



इस कड़ी में कौशल विकास विभाग की ओर से युवाओं को आत्‍मनिर्भर बनाने के लिए आभा एप को विकसित किया गया है. इस से जुड़ कर युवा अपनी स्किल को डेवलप कर सकते हैं. एप में कई तरह के स्‍व रोजगार से जुड़े हुए वीडियोज भी अपलोड किए गए हैं. जिनसे युवाओं को आगे बढ़ने की प्रेरणा मिलेगी. इसके अलावा मुख्‍यमंत्री अप्रेंटिसशिप प्रमोशन स्‍कीम भी युवाओं को काफी भा रही है. इसमें उद्योगों में अप्रेंटिस के रूप में काम करने वाले युवाओं को एक हजार रुपए प्रतिमाह स्‍टाइपेंड दिया जा रहा है.
Youtube Video


श्रमिकों को दे रहे हैं ट्रेनिंग



राज्‍यमंत्री व्‍यावसायिक शिक्षा एवं कौशल विकास कपिल देव अग्रवाल के मुताबिक कोविड संक्रमण के दौरान प्रदेश में आए 38 लाख से अधिक श्रमिकों का भी कौशल विकास कार्यक्रम जारी है. इन श्रमिकों की आजीविका का प्रबंध कर उनको पैरों पर खड़ा करने का प्रयास कामयाब हो रहे हैं. श्रमिकों को रिकगनाइजेशन ऑफ प्रि‍रियर लर्निंग आरपीएल के तहत उनको ट्रेनिंग दिए जाने का काम तेजी से चल रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज