सीएम योगी को ज्यादा तरजीह तो हमारी नजर में कम होगी श्रीश्री की अहमियत: जफरयाब

राम जन्मभूमि विवाद के शांतिपूर्ण हल की कोशिशों में जुटे आर्ट आॅफ लिविंग के संस्थापक श्रीश्री रविशंकर 16 नवंबर को अयोध्या पहुंच रहे हैं. इससे पहले वह लखनऊ में मुख्यमंत्री सीएम योगी से भी मुलाकात करेंगे.

ETV UP/Uttarakhand
Updated: November 14, 2017, 6:21 PM IST
सीएम योगी को ज्यादा तरजीह तो हमारी नजर में कम होगी श्रीश्री की अहमियत: जफरयाब
जफरयाब जिलानी
ETV UP/Uttarakhand
Updated: November 14, 2017, 6:21 PM IST
राम जन्मभूमि विवाद के शांतिपूर्ण हल की कोशिशों में जुटे आर्ट आॅफ लिविंग के संस्थापक श्रीश्री रविशंकर 16 नवंबर को अयोध्या पहुंच रहे हैं. इससे पहले वह लखनऊ में मुख्यमंत्री सीएम योगी से भी मुलाकात करेंगे.

इस सीएम योगी से श्रीश्री रविशंकर की मुलाकात को लेकर बाबरी एक्शन कमेटी के संयोजक जफरयाब जिलानी ने कहा है कि वो सीएम को ज्यादा अहमियत देंगें तो हमारी नजर में उनकी अहमियत कम होगी.

बाबरी मस्ज़िद विवाद कोर्ट के बाहर सुलझाने पर जफरयाब जिलानी ने कहा कि कोर्ट के बाहर मामला सुलझाने का कोई प्रपोजल नहीं मिला है. उन्होंने कहा कि मुसलमान बाबरी मस्ज़िद सरेंडर करने को तैयार नहीं है. श्रीश्री की ओर से अभी तक कोई प्रपोजल नहीं मिला है. उन्होंने कहा कि इस मामले में मुख्यमंत्री, प्रधानमंत्री खुद पक्षकार हैं. हम अभी तक श्रीश्री रविशंकर को तटस्थ समझते थे.

बता दें कि आर्ट ऑफ लिविंग संस्था के संस्थापक श्रीश्री रविशंकर 16 नवंबर को अयोध्या जाएंगे. वे राम जन्मभूमि विवाद के शांतिपूर्ण हल के लिए इससे जुड़े पक्षकारों से मुलाकात करेंगे. श्रीश्री अपने अयोध्या दौरे के पहले लखनऊ में मुख्यमंत्री सीएम योगी से भी मुलाकात करेंगे. हालांकि, इस मामले में उनकी मध्यस्थता को लेकर सवाल भी उठ रहे हैं. इस पर श्रीश्री का कहना है कि वे आलोचकों का मुंह बंद नहीं कर सकते.

श्रीश्री का कहना है कि राम जन्मभूमि का विवामद सिर्फ बातचीत से हल हो सकता है और इसके लिए वे प्रयासरत हैं. इसमें उनका कोई निजी एजेंडा नहीं है.

(रिपोर्ट: ऋषभ मणि त्रिपाठी)
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर