अपना शहर चुनें

States

बिना ‘हेलमेट’ UP रोडवेज की बस चला रहा था ड्राइवर, कटा चालान!

सरकार बस चला रहे ड्राइवर का ट्रैफिक पुलिस ने हेलमेट नहीं पहनने का कर दिया चालान.
सरकार बस चला रहे ड्राइवर का ट्रैफिक पुलिस ने हेलमेट नहीं पहनने का कर दिया चालान.

महाराजगंज (Maharajganj) में ट्रैफिक पुलिस ने बीते 26 अगस्त को एक अनोखा चालान किया है. दरअसल ट्रैफिक पुलिस ने एक सरकारी बस का चालान हेलमेट के अभाव में काटा है.

  • Share this:
महाराजगंज. इस समय पूरे देश में ट्रैफिक नियमों को लेकर चर्चाओं का दौर जारी है. इस बीच कई जगहों पर ट्रैफिक पुलिस की गलतियां भी सामने आ रही हैं, जिन्हें लेकर व्यवस्था पर सवाल खड़े हो रहे हैं. ट्रैफिक चालान को लेकर ऐसा ही एक मामला महराजगंज जनपद में सामने आया है. यहां ट्रैफिक पुलिस ने बीते 26 अगस्त को सरकारी बस का चालान हेलमेट के अभाव में काटा है. चालान की रसीद अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है. इसे देखने के बाद लोग हैरत में पड़ रहे हैं और सवाल उठा रहे हैं कि क्या रोडवेज की बस का इसलिए भी चालान काटा जा सकता कि ड्राइवर ने हेलमेट न पहना हो.

चालान शीट पर ₹500 का जुर्माना किया गया है और यह दर्शाया गया है कि बस चालक बिना हेलमेट के वाहन चला रहा था. इतना ही नहीं चालान की नोटिस यूपीएसआरटीसी के जनरल मैनेजर और रीजनल मैनेजर गोरखपुर को भेज दी गई है. जिस बस का चालान काटा गया है वो निचलौल डिपो की बताई जा रही है, इस बस का नंबर UP 53 DT 5460 है. चालान का स्थान सिंदूरिया रोड, बिस्मिल नगर महराजगंज का है. चौंकाने वाले चालान ने सहायक क्षेत्रीय प्रबंधक महराजगंज भुवनेश्वर कुमार को कुछ समय के लिए चक्कर में डाल दिया. उन्होंने कहा कि ये गलत चालान काटा गया है.

AGM
सहायक क्षेत्रीय प्रबंधक महराजगंज भुवनेश्वर कुमार ने कहा ये गलत चालान काटा गया है.




मामले में एएसपी ने बताया कि जब उन्होंने इंस्पेक्टर से पूछा तो पता चला कि बस ड्राइवर का सीट बेल्ट नहीं लगाने का चालान किया जाना था लेकिन भूलवश हेलमेट नहीं पहनने का चालान काट दिया गया.
बता दें कि देश भर में 1 सितंबर से नया मोटर व्हीकल एक्ट लागू हो गया है. नए नियम के अनुसार इसके बाद ट्रैफिक चालान पहले की तुलना में 10 गुना बढ़ गया है.

(रिपोर्ट: आशीष शुक्ला)

ये भी पढ़ें:

अयोध्या केस में मुस्लिम पक्षकार इकबाल अंसारी के खिलाफ FIR के आदेश

पड़ोसी से थे शादीशुदा महिला के नाजायज रिश्ते, जानें फिर क्या हुआ..
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज