होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /

Pharenda Assembly Seat: फरेंदा में लगातार 3 बार से जीतती आ रही है भाजपा, इस बार कौन देगा चुनौती

Pharenda Assembly Seat: फरेंदा में लगातार 3 बार से जीतती आ रही है भाजपा, इस बार कौन देगा चुनौती

UP Chunav: फरेंदा विधानसभा सीट का जानिए हाल.

UP Chunav: फरेंदा विधानसभा सीट का जानिए हाल.

Pharenda Assembly Seat: उत्तर प्रदेश के महाराजगंज जिले की फरेंदा विधानसभा सीट, भारतीय जनता पार्टी का गढ़ है. इस अभेद्य भगवा किले को पिछले तीन चुनावों से कोई पार्टी ढहा नहीं पाई है. 2022 में कौन सा दल फरेंदा सीट पर बड़ा उलटफेर कर सकता है, इस पर सबकी नजरें टिकी हैं.

अधिक पढ़ें ...

महाराजगंज. पूर्वांचल के इलाके में भारतीय जनता पार्टी कई सीटों पर मजबूत पकड़ रखती है. इन्हीं सीटों में से एक है फरेंदा विधानसभा सीट, जहां से पार्टी लगातार 3 चुनावों से जीतती आ रही है. पार्टी का विजेता चेहरा भी बदला नहीं है. बजरंग बहादुर सिंह के इस ‘किले’ में अभी तक कोई सेंध नहीं लगा पाया है. अलबत्ता 2017 के विधानसभा चुनाव में इस किले में घुसने के लिए कांग्रेस पार्टी ने जरूर ‘बड़ी कोशिश’ की थी, जब उसका उम्मीदवार कम वोटों के अंतर से हारा था.

2007, 2012 और 2017 के विधानसभा चुनाव में फरेंदा विधानसभा सीट पर न तो विजेता पार्टी बदली और न ही इसका चेहरा ही बदला. बजरंग बहादुर सिंह ने 2007 के विधानसभा चुनाव में बसपा के वीरेंद्र चौधरी को हराया था. तब वह लगभग 9000 वोटों से जीतकर विधायक बने थे. पांच साल बाद 2012 में हुए विधानसभा चुनाव में एक बार फिर बजरंग बहादुर और वीरेंद्र चौधरी मैदान में आमने-सामने थे. लेकिन चौधरी बसपा के बजाये कांग्रेस पार्टी की तरफ से इस बार उतरे थे. बहादुर ने तब भी भाजपा को जीत दिलाई.

2017 के विधानसभा चुनाव में फिर से इन्हीं दोनों उम्मीदवारों के बीच भिड़ंत हुई, लेकिन इस बार भाजपा के इस किले को हिलाने में कांग्रेस उम्मीदवार ने अच्छी-खासी मेहनत की. चुनाव कड़े मुकाबले वाला हुआ और दोनों उम्मीदवारों के बीच जीत का अंतर काफी कम रह गया. भाजपा के प्रत्याशी बजरंग बहादुर ने चुनाव में जीत तो हासिल की, लेकिन जीत का अंतर 3000 से भी कम रह गया. यही वजह है कि 2022 के चुनाव पर सियासी जानकारों की नजरें टिकी हैं.

Tags: UP Election 2022

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर