Home /News /uttar-pradesh /

man took elderly women to hospital in handcart in absence of government ambulance nodss

यूपी में स्वास्‍थ्य सेवाओं का हाल बेहाल, नहीं मिली सरकारी एंबुलेंस तो ठेले पर लेकर पहुंचे अस्पताल

महिला को अस्पताल ले जाने के लिए घंटो तक सरकारी एंबुलेंस का इंतजार किया गया.

महिला को अस्पताल ले जाने के लिए घंटो तक सरकारी एंबुलेंस का इंतजार किया गया.

बुजुर्ग महिला सीढ़ियों से गिर कर हुई घायल, अस्पताल ले जाने के लिए कई बार सरकारी एंबुलेंस को फोन किया लेकिन समय पर नहीं पहुंचने के चलते पड़ाेस में रहने वाला युवक ठेले में लेकर बुजुर्ग महिला को अस्पताल पहुंचा.

महोबा. उत्तर प्रदेश में स्वास्‍थ्य सेवाओं का हाल बेहाल है. आम लोगों को सरकारी सुविधाओं का लाभ कितना मिल रहा है इसका एक उदाहरण महोबा में देखने को मिला. यहां पर चरखारी में हालात इतने खराब हैं कि गंभीर मरीजों को भी सरकारी एंबुलेंस का लाभ नहीं मिल रहा है. लोग किसी तरह से मरीजों को अस्पताल तक लेकर आ रहे हैं और ऐसे में कई बार देखने को मिला है कि इलाज में देर होने के चलते कई मरीजों के साथ अनहोनी हुई है.
ऐसा ही कुछ शुक्रवार को भी देखने को मिला. यहां पर एक युवक 65 साल की बुजुर्ग महिला को ठेले में लेकर सामुदायिक स्वास्‍थ्य केंद्र पहुंचा. महिला की हालत खराब थी और उसे तत्काल इलाज की जरूरत थी.

आखिर ठेला क्यों
शंकर ने बताया कि जिस बुजुर्ग महिला को ठेले में लेकर वो आया है, वे उसकी पड़ाेसी हैं और उनका नाम प्रेम है. वे अपनी दिव्यांग बेटी के साथ घर में अकेले रहती हैं. वे आज सीढ़ियों से उतरते समय फिसल गईं और उनके गंभीर चोट आईं. जिसके बाद वे खड़ी भी नहीं हो सकीं. बेटी के चींखने की आवाज सुन हम लोग वहां पहुंचे तो उनकी हालत काफी खराब थी. इस पर शंकर ने सरकारी एंबुलेंस के लिए कई बार फोन किया लेकिन जब काफी देर तक एंबुलेंस नहीं पहुंची और महिला की हालत खराब होती दिखी तो शंकर ने महिला को किसी तरह अस्पताल पहुंचाने के बारे में निर्णय लिया. इस दौरान उसे हाथ ठेले के अलावा और कुछ न सूझा. वो अपनी पत्नी के साथ ही महिला को ठेले में रखकर अस्पताल पहुंच गया.

हालत खराब इसलिए किया रैफर
अब चिकित्सकों ने महिला की गंभीर हालत को देखते हुए उसे जिला अस्पताल रैफर कर दिया है. शंकर ने बताया कि महिला की आर्थिक हालत भी खराब है और उसके पास खुद के इलाज के लिए भी कुछ नहीं है. अब हालात ये हैं कि उसे जिला अस्पताल कैसे ले जाया जाए इस बात पर शंकर परेशान है. हालांकि अभी भी उसे सरकारी व्यवस्‍था में विश्वास है और एंबुलेंस सेवा के लिए कोशिश की जा रही है.

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर